DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुख्य सचिव से वार्ता व आश्वासन से होटलियर्स खुश

मुख्य सचिव से वार्ता व आश्वासन से होटलियर्स खुश

नगर और समीपवर्ती क्षेत्र में पार्किंग विकसित न करने के कारण साल दर साल पीक सीजन में हो रही अव्यवस्थाओं के खिलाफ विरोध प्रदर्शन को लेकर शुक्रवार को होटेलियर्स ने बैठक की। हालांकि प्रदेश के मुख्य सचिव से मोबाइल पर हुई वार्ता के बाद आक्रोशित व्यवसायियों में रोष कम हुआ है। इसी कारण उन्होंने शनिवार (आज) शाम को प्रस्तावित शांति मार्च को सांकेतिक करने का निर्णय लिया है। लेकिन होटल की लाइट पूर्व की भांति बंद रहेंगी और काले झंडे लगे रहेंगे।बता दें कि रूसी बाईपास, गांधी चौक में धरना-प्रदर्शन के बाद शुक्रवार को होटेलियर्स ने आंदोलन की भावी रणनीति के लिए बैठक की। बैठक में एसोसिएशन अध्यक्ष दिनेश साह ने सदस्यों को बताया कि उनके द्वारा किए जा रहे विरोध प्रदर्शन की सूचना शासन तक भी पहुंच गई है। शुक्रवार को मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने मोबाइल पर उन्हें फोन किया। कहा कि उनकी मांग और विरोध के क्रम में उन्होंने नव नियुक्त डीएम सविन बंसल को निर्देशित कर दिया। वह कार्यभार ग्रहण करने के बाद उनसे वार्ता करेंगे। उन्हें निर्देश दिए हैं कि वह होटेलियर्स के साथ वार्ता करें। वह पार्किंग आदि की वर्तमान व्यवस्था और सुझाव पर आधारित रिपोर्ट निजी स्तर पर उन्हें भी भेजें। अध्यक्ष ने कहा कि डीएम से वार्ता के दौरान उन्हें संगठन द्वारा बनाई पार्किंग, यातायात, नगर वासियों के लिए पार्किंग सुविधा समेत क्षेत्र की अन्य समस्या और सुझाव का विस्तृत प्लान सौंपा जाएगा। अध्यक्ष ने कहा कि मुख्य सचिव से वार्ता के बाद शनिवार शाम 7.30 बजे से मल्लीताल पंत चौक से तल्लीताल गांधी चौक तक कैंडल मार्च सांकेतिक होगा। होटलों में लाइट बंदी और काले झंडे लगे रहेंगे। बैठक में आलोक साह, डीडी बहुगुणा, प्रीतपाल आहूजा, वेद साह, एमएस बिष्ट, विशाल खन्ना, एपी सिंह, सीपी भट्ट, अमित साह, प्रदीप जेठी, ओम प्रकाश मैद, दिग्विजय बिष्ट, अजय लाल, जेएस सरना, आरडी सिंह, अतुल साह, महेंद्र बिष्ट, स्नेह छाबड़ा, लोकेश जोशी, कैलाश चौधरी, सूरज सिंह, रुचिर साह, कमल जगाती, अमर जगाती आदि रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:hoteliers happy to assurances by the chief secretary