DA Image
27 सितम्बर, 2020|6:09|IST

अगली स्टोरी

डीएम और म्युनिसिपल कमिश्नर दोबारा जांच कर दो सप्ताह में जवाब दें

default image

हाईकोर्ट ने पूर्व के आदेशों का अनुपालन नहीं करने पर देहरादून के परेड ग्राउंड और तिब्बती बाजार के सामने लगने वाले संडे बाजार मामले में गुरुवार को सुनवाई की। कोर्ट की एकलपीठ ने डीएम आशीष श्रीवास्तव और म्यूनिसिपल कमिश्नर सुशील पांडे से दोबारा मामले की जांच कर दो सप्ताह में जवाब पेश करने को कहा है। मामले की सुनवाई न्यायमूर्ति शरद कुमार शर्मा की एकलपीठ में हुई। सुनवाई में याची के अधिवक्ता ने बताया कि पूर्व के आदेशों के क्रम में दोनों अधिकारियों की ओर से कोई जांच नहीं की गई। इसलिए मामले की दोबारा जांच कराई जाए।

दून के वीकली संडे मार्केट वेलफेयर एसोसिएशन अध्यक्ष हीरा लाल ने कोर्ट में अवमानना याचिका दायर कर कहा कि वह 2004 से देहरादून के परेड ग्राउंड के पीछे और तिब्बती मार्केट के सामने प्रत्येक रविवार को बाजार लगाते हैं। उक्त स्थान पर करीब तीन सौ से अधिक लोग दुकान लगाते हैं। इसके एवज में प्रत्येक माह निगम को तीन सौ रुपये प्रति दुकान के हिसाब से किराया भी देते आए हैं। 2004 में तत्कालीन डीएम ने उन्हें संडे बाजार लगाने की अनुमति दी थी, लेकिन निगम ने प्रशासन से मिलकर जनहित याचिका में पारित आदेश का हवाला देते हुए उनको हटा दिया। जबकि कुछ पहुंचे लोगों को निगम ने अन्य जगह दुकान दे दी। याचिका में कहा है कि संडे को बाजार बंद होने के साथ ट्रैफिक भी कम रहता है। इसलिए वह संडे को परेड ग्राउंड के पीछे और तिब्बती बाजार के सामने दुकानें लगाते हैं। स्वयं ही वहां सफाई भी करते हैं। बाजार लगाने से कई को रोजगार भी मिलता है। वह माह में चार दिन दुकान लगाते हैं। समिति का कहना है कि उनके नाम से एक अन्य समिति फर्जी तरीके से निगम अधिकारियों के साथ मिलकर चल रही है। जिसकी जांच कर उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाए। पूर्व में हाईकोर्ट की पीठ ने आदेश दिए थे कि याची के प्रत्यावेदन को निगम और डीएम दो माह में निस्तारित करे। जांच करें कि सही कमेटी कौन सी है, लेकिन अभी तक उनके प्रत्यावेदन पर कोई निर्णय नहीं लिया गया है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:DM and Municipal Commissioner double check and answer in two weeks