DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भू-स्खलन के बाद तल्ला कृष्णापुर के लिए पैदल मार्ग का संकट

भू-स्खलन के बाद तल्ला कृष्णापुर के लिए पैदल मार्ग का संकट

शहर के मुहाने पर स्थित बलियानाला क्षेत्र में लगातार हो रहे भू-स्खलन से तल्ला कृष्णापुर के लिए रास्ते का संकट पैदा हो गया है। बलियानाला क्षेत्र में हुए भू-कटाव से क्षेत्रवासियों में भय का माहौल बना हुआ है। भू-स्खलन रोकने के लिए क्षेत्रवासियों ने शासन-प्रशासन से ठोस पहल करने की मांग की है। इस संबंध में स्थानीय शिष्टमंडल ने बुधवार को कुमाऊं कमिश्नर राजीव रौतेला से मुलाकात की। बता दें कि बलियानाला स्थित रईस होटल क्षेत्र में बीते कई वर्षो से भू-स्खलन हो रहा है। इधर पिछले सप्ताह हुए भू-कटाव के बाद प्रशासन ने यहां से 12 परिवारों को जीआईसी व प्राइमरी स्कूल में विस्थापित किया। साथ पांच परिवारों ने रिश्तेदारों के यहां शरण ली। लगातार गिर रही पहाड़ी से समूचे क्षेत्र को खतरा बना हुआ है। यहां पहाड़ी का दरकना जारी है। इधर सामाजिक कार्यकर्ता तथा उत्तराखंड देवभूमि क्रांतिकारी मोर्चा के संयोजक केएल आर्य के नेतृत्व में स्थानीय लोगों के एक शिष्टमंडल ने बुधवार को आयुक्त राजीव रौतेला से मुलाकात की। उन्होंने कहा कि जीआईसी समेत हरिनगर को खतरा होने के साथ ही अब कृष्णापुर, दुर्गापुर, वीरभट्टी के लिए पैदल मार्ग भी प्रभावित हो गया है। जहां लगभग 5000 से अधिक लोग रहते हैं। जिससे लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने रास्ता दुरुस्त करने के साथ ही यहां हो रहे भू-स्खलन पर रोक लगाने के लिए ठोस पहल करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि पहले से ही पालिका और प्रशासन की उपेक्षा झेल रहे क्षेत्र के लोग अब मुख्य मार्ग टूटने से लाचार हो गए हैं। बता दें कि हालांकि वर्ष 2001 में हुए सर्वे के बाद 15 करोड़ की धनराशि से बलियानाला का ट्रीटमेंट किया गया। जबकि 2010 में आईआईटी रुड़की और टीएचडीसी के सर्वे के बाद 41.03 करोड़ की डीपीआर तैयार की गई। लेकिन भूस्खलन रोकने में विभाग सफल साबित नहीं हो सका। प्रभावित क्षेत्र नैनीताल का मुहाना होने से सरोवर नगरी के अस्तित्व को भी खतरा बना हुआ है। इधर आम आदमी पार्टी के शिष्टमंडल ने जिलाध्यक्ष प्रदीप दुम्का के नेतृत्व में पीड़ित परिवारों से मुलाकात की। उन्होंने प्रभावितों के पानी और शौचालय की समस्या के निराकरण के लिए प्रशासन से मदद करने की मांग की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:After the earthquake the Path of Talla Krishnapur damage