अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रशासन की टीम ने किया श्मशान घाट की भूमि का मुआयना

प्रशासन की टीम ने किया श्मशान घाट की भूमि का मुआयना

चॉफी-अल्चौना स्थित श्मशान घाट में फूल कारोबारी द्वारा किए जा रहे अतिक्रमण की शिकायत के बाद बुधवार को जिला प्रशासन की ओर से तहसीलदार ने राजस्व पुलिस के साथ मौका मुआयना किया। हालांकि फूल कारोबारी सुधीर चढ्ढा के वहां मौजूद नहीं होने से अभिलेखों की जांच नहीं हो सकी। तहसीलदार कृष्ण कुमार ने राजस्व उप निरीक्षक प्रमोद जोशी को भू-अभिलेखों की जांच कर जल्द उन्हें उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। ताकि उच्चाधिकारियों को रिपोर्ट सौंपी जा सके। बता दें बीते मंगलवार को चॉफी-अल्चौना के श्मशान घाट में अतिक्रमण करने पर ग्रामीण ने तीव्र विरोध किया था। उन्होंने इसकी शिकायत विधायक राम सिंह कैड़ा से की। जिस पर विधायक ने जिला प्रशासन से श्मशान घाट में हो रहे अतिक्रमण को रोकने तथा अभिलेखों की जांच करने को कहा था। जिसके तहत बुधवार को तहसीलदार कृष्ण कुमार मौके पर पहुंचे और मौका मुआयना किया। इस मौके पर ज्येष्ठ प्रमुख अनिल चनौतिया, बीडीसी सदस्य खीमा राम आर्या, प्रधान भावना वर्मा, लाल सिंह अलचौनी, शिव राज सिंह, सुरेंद्र परिहार समेत उप निरीक्षक राधे सिंह राणा व प्रमोद जोशी आदि मौजूद रहे।

कलसा नदी में फेंका जा रहा घरों का कूड़ा-कचरा

भीमताल। एक ओर केंद्र सरकार द्वारा नदियों को प्रदूषण से मुक्त करने के लिए करोड़ों रुपये खर्च किए जा रहे हैं वहीं दूसरी ओर भीमताल के अल्चौना-चॉफी स्थित कलसा नदी में कुछ लोगों द्वारा कूड़ा-कचरा फेंका जा रहा है। इससे नदी प्रदूषित हो रही है। लेकिन प्रशासन कार्रवाई नहीं की जा रही है। बुधवार को अल्चौना पहुंचे तहसीलदार को ग्रामीणों ने बताया कि क्षेत्र के कुछ कारोबारियों द्वारा कलसा नदी किनारे कूड़ा कचरा फेंका जा रहा है। इससे कलसा नदी प्रदूषित हो रही है। तहसीलदार ने ग्रामीणों की शिकायत को गंभीरता से लेते हुए उप निरीक्षक को ऐसे लोगों को चिन्ह्ति कर उनके खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Administration key team did done crematorium wharf of land of