DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्थानान्तरण ओर पदोन्नति में देरी पर भड़का शिक्षक संघ

एलटी से प्रवक्ता पदों पर पदोन्नति एवं स्थानान्तरण को विगत तीन वर्षों से लटकाए जाने पर राजकीय शिक्षक संघ ने तीखा आक्रोश जताया। शिक्षकों ने प्रदेश सरकार से जल्द ही एलटी से प्रवक्ता पदों पर पदोन्नति एवं स्थानान्तरण करने की मांग की है। शनिवार को शिक्षक संघ के अध्यक्ष अव्वल सिंह रावत की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में वक्ताओं ने कहा कि प्रदे में गिरते शैक्षणिक व्यवस्थाओं के लिए सरकार व शीर्ष स्तर पर विभागीय अधिकारी जिम्मेदार है। जिला मंत्री मनमोहन सिंह चौहान ने कहा कि शिक्षक पिछले कई वर्षों से एक न्याय परख व्यवस्था की मांग करते आ रहे है, लेकिन सरकार व अधिकारियों की शिक्षा के प्रति उदासीन रवैये के कारण सरकारी विद्यालयों के शिक्षा के स्तर में गिरावट आई है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के अधिकांश विद्यालय प्रधानाचार्य विहीन है। एलटी से प्रवक्ता संवर्ग में पदोन्नतियां पिछले कई वर्षो से लटकी हुई है। जिस कारण शिक्षक एक ही संवर्ग से सेवानिवृत्त हो रहे है। वर्षों से दुर्गम में कार्यरत शिक्षक स्थानान्तरण की मांग करते आ रहे है, लेकिन उनकी मांग की अनदेखी की जा रही है। जिससे शिक्षकों में आक्रोश पनप रहा है। उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड राज्य को बनाने में शिक्षकों/कर्मचारियों की महत्वपूर्ण भूमिका रही है, लेकिन उन्हीं को अपमानित किया जा रहा है। शिक्षकों ने कहा कि 20 जून तक पदोन्नतियां व स्थानान्तरण नहीं होने पर जुलाई माह में प्रत्येक ब्लॉक स्तर पर आंदोलन चलाया जायेगा। जिसकी सम्पूर्ण जिम्मेदारी विभागीय अधिकारियों की होगी। बैठक में राजेन्द्र कुमार भंडारी, विजेन्द्र बिष्ट, राजेश कुकरेती, डबल सिंह, आशीष खर्कवाल, मुकेश रावत, पीएल बडोला, बलबीर सिंह रावत, धीरेन्द्र रावत, पंकज ध्यानी, रतन सिंह बिष्ट, रविन्द्र रावत, पूरण सिंह नेगी, मनमोहन रौतेला, कुलदीप नेगी, विजय बिष्ट, रतन सिंह रावत, परितोष रावत, जयवीर बिष्ट, संदीप भारद्वाज, अमित बलूनी, जगदीश जोशी, विजन्द्र तोमर, सुनील बिष्ट, अनिल आर्य, प्रेम सिंह रावत, सुमनलता रावत, अनीता बिष्ट, सरिता रौतेला, कान्ता रावत आदि उपस्थित रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:teacher association