DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सुरक्षा दीवारों की गुणवत्ता पर सवाल

भाबर क्षेत्र के अंतर्गत सिगड्डी स्थित तेलीस्रोत में प्रदेश सरकार की ओर से रिवर ट्रीटमेंट के नाम पर कराये गये अवैध खनन के कारण हल्की बरसात से ही लाखों रुपये से बनायी गयी सुरक्षा दीवारें क्षतिग्रस्त हो गई हैं जिस पर पूर्व काबीना मंत्री सुरेन्द्र सिंह नेगी ने गहरा रोष व्यक्त किया है। उन्होंने अवैध खनन की उच्च स्तरीय जांच की मांग सहित नुकसान की भरपाई अवैध खनन करने वालों से करवाये जाने की मांग की है।बाढ़ प्रभावित तेलीस्रोत व शीतलपुर का दौरा करते हुए पूर्व काबीना मंत्री सुरेन्द्र सिंह नेगी ने क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि एवं प्रदेश सरकार पर रिवर ट्रीटमेंट के नाम पर अवैध खनन करने का आरोप लगाते हुए कहा कि तेलीस्रोत में पंद्रह से बीस फुट तक नाले को खोद दिया गया है, जिससे भारी बरसात से क्षेत्र में भारी तबाही हो सकती है। कहा कि रिवर ट्रीटमेंट के नाम पर भाजपा सरकार ने अपने चेहतों से नदी नालों में अवैध खनन करवाकर प्रदेश सरकार का लाखों के राजस्व का नुकसान करवाया है। अवैध खननकारियों ने गांवों की सुरक्षा के लिए बनी लाखों रूपये की सुरक्षा दीवारों की बुनियाद को खोद कर खोखला कर दिया है। इस कारण सुरक्षा दीवारों की बुनियाद हल्की बारिश से ही टूट गई है, जिससे आने वाले समय में भारी बरसात होने से गांवो की सुरक्षा को खतरा बन गया है। साथ ही किसानों की भूमि के कटाव का भी खतरा उत्पन्न हो गया है। अवैध खननकारियों ने इतनी ज्यादा गहरी खाई खोद दी है, कि अब शीतलपुर बस्ती के डूबने का खतरा बढ़ गया है। उन्होंने प्रदेश सरकार से अवैध खनन कराये जाने की उच्च स्तरीय जांच की मांग की है, तथा नुकसान की भरपाई के लिए अवैध खनन करने वाले लोगों से वसूली किये जाने की बात कही है। इस मौके पर ग्राम सभा लोकमणिपुर के पूर्व ग्राम प्रधान जगदीश मेहरा, पुष्कर जोशी, प्रमोद बौठियाल, दिनेश सती, ग्राम प्रधान वीरेन्द्र पाल सिंह, राजेन्द्र सती, उपप्रधान पूजा देवी, मंगत राम, मनोहर सिंह, चन्द्रमोहन, खेम सिंह नेगी, दीपक अधिकारी, आनंद सिंह, महेन्द्र सिंह, बीर सिंह, देवी सिंह, मुकेश सिंह, ओम प्रकाश सहित कई ग्रामीण मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:river treetmant