DA Image
24 अक्तूबर, 2020|11:29|IST

अगली स्टोरी

वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली को पुण्यतिथि पर याद किया

वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली को पुण्यतिथि पर याद किया

पेशावर कांड के महानायक वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली की पुण्यतिथि के अवसर पर वीर चंद्र सिंह गढ़वाली स्मृति एवं स्मारक समिति के सदस्यों द्वारा धुव्रपुर स्थित उनके स्मारक पर माल्यार्पण कर उनके बताए रास्ते पर चलने का संकल्प लिया गया। कार्यक्रम में वक्ताओं ने कहा कि पेशावर में 23 अप्रैल 1930 को पठानों द्वारा विशाल जुलूस निकला था, जिसमें बच्चे, बूढ़े, जवान, महिलाएं सभी शामिल थे। उस जुलुस को खत्म करने के लिए अंग्रेजों ने रायल गढ़वाल राइफल्स के सैनिकों को भेजा और प्रदर्शनकारियों पर गोलियां चलाने के आदेश दिये। हवलदार मेजर चन्द्र सिंह गढ़वाली के नेतृत्व में रॉयल गढ़वाल राइफल्स के जवानों ने भारत की आजादी के लिये लड़ने वाले निहत्थे पठानों पर गोली चलाने से मना कर दिया था। बिना गोली चले, बिना बम फटे पेशावर में इतना बड़ा धमाका हो गया कि एकाएक अंग्रेज भी हक्के-बक्के रह गये, उन्हें अपने पैरों तले जमीन खिसकती हुई सी महसूस होने लगी। अधिकारियों का आदेश न मानने पर उन्हें गिरफ़्तार कर लिया गया। वक्ताओं ने कहा कि वीर चंद्र सिंह गढ़वाली साहस को कभी भुलाया नहीं जा सकता है। इस अवसर पर भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष शैलेंद्र सिंह बिष्ट, शैलेश बिष्ट, चंद्र प्रकाश जदली, मनोज गुसांई, अमित भारद्वाज, राजेश रावत आदि मौजूद रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Remembered Veer Chandra Singh Garhwali on his death anniversary