अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कोटद्वार जिला नहीं बनाने पर भड़के

कोटद्वार जिला निर्माण संयुक्त संघर्ष समिति के घटक संगठनों के प्रतिनिधियों ने अब तक कोटद्वार जिला निर्माण की घोषणा का अब तक क्रियान्वयन न होने पर रोष व्यक्त किया है। इस संबध में सभी घटक संगठनों के प्रतिनिधि तहसील में एकत्रित हुए और उन्होंने उपजिलाधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन प्रेषित किया है।इस अवसर पर वक्ताओं ने कहा कि कोटद्वार को जिला बनाने की मांग को लेकर विभिन्न संगठन लगातार आंदोलन करते आ रहे हैं, लेकिन इस संबध में कोई भी कार्रवाई न होने पर सभी संगठनों में निराशा व्याप्त है। कोटद्वार, यमुनोत्री, डीडीहाट व रानीखेत को जिला बनाने की घोषणा सात वर्ष पूर्व प्रदेश की तत्कालीन भाजपा सरकार ने ही की थी, लेकिन इस घोषणा का आज भी क्रियान्वयन न होना क्षेत्र की जनता को आंदोलन करने के लिए मजबूर कर रहा है। इसलिए प्रदेश सरकार को अविलंब कोटद्वार को जिला बनाने की घोषणा कर देनी चाहिए।ज्ञापन प्रेषित करने वालों में बार एसोसिएशन, नागरिक मंच, गढ़वाल सभा, पूर्व सैनिक सेवा परिषद, व्यापर मंडल, गढ़वाल सर्वोदय मंडल, पुलिस पेंशनर्स वेलफेयर एसोसिएशन, गवर्नमेंट पेंशनर्स वेलफेयर एसोसिएशन और साहित्यांचल संस्थाओं के प्रतिनिधि शामिल थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:kotdwar