DA Image
22 नवंबर, 2020|6:47|IST

अगली स्टोरी

जसपुर में नशे की चपेट में आ रहे युवा और बच्चे

default image

जसपुर। हमारे संवाददाता

नगर में तेजी से युवा नशे की चपेट में आते जा रहे हैं। स्मैक और पंक्चर जोड़ने वाली ट्यूब को सूंघकर यह युवा शारीरिक रूप से कमजोर होते जा रहे हैं। पुलिस ने एक अभियान में छह किशोरों को नशा करते हुए दबोचा है। बाद में इनका चालान कर इन्हें परिजनों के सपुर्द कर दिया है। पुलिस अब युवाओं को नशे की दलदल से निकालने को अभियान चलायेगी।

बता दें नगर के कई मोहल्लों में रोजाना स्मैक, सुल्फा एवं पंक्चर जोड़ने वाले ट्यूब का सहारा लेकर युवा नशा कर रहे। कई मोहल्लों में शाम को इनकी महफिल जम जाती है। पुलिस अथवा अपनों को देखकर यह युवा तितर बितर हो जाते हैं। पुलिस ने एक अभियान चलाकर छह किशोरों को नशा करते हुए पकड़ा। सभी किशोरों की उम्र 12 से लेकर 16 वर्ष तक बताई गई है। कोतवाल एनबी भट्ट ने किशोरों के परिजनों को बुलाकर उन पर नजर रखने की हिदायत देते हुए सभी का एक एक हजार रुपये का चालान काटा है।

छोटे बच्चों को बिना पड़ताल दी जा रही पंक्चर ट्यूब

जसपुर। नगर के कई दुकानदार ऐसे हैं जो छोटे बच्चों को बिना पड़ताल के ही पंक्चर जोड़ने वाला ट्यूब एवं व्हाइटनर दे देते हैं। छोटे बच्चे इनको सूंघकर मदहोश हो जाते हैं। इन बच्चों में कई बच्चें ऐसे हैं जिनके माता-पिता नहीं हैं। भीख मांगकर खाना खाते हैं और नशा करते है। दो साल पहले शिकायत मिलने पर तत्कालीन कोतवाल ने दुकानदार को बुलाकर पंक्चर जोड़ने का टयूब और व्हाइटनर बच्चों को न देने की हिदायत दी थी।

युवाओं को नशे की दलदल से निकालने को पुलिस अभियान चलायेगी। इसका खाका तैयार किया जा रहा है। उच्चाधिकारियों के निर्देश के बाद कार्रवाई अमल में लायी जायेगी।

-एनबी भट्ट, कोतवाल जसपुर

युवाओं के लगातार नशा करने पर कई बार उनके महत्वपूर्ण अंग काम करना बंद कर देते हैं। नशा नहीं छोड़ने पर वह जल्द ही मौत की आगोश में भी चले जाते हैं।

-डा.एमपी सिंह फिजिशियन, जसपुर

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Youth and children getting addicted to drugs in Jaspur