DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रेलवे में खाली पदों से बढ़ रहे हादसे: चतुर्वेदी

एनई रेलवे मजदूर यूनियन के केंद्रीय अध्यक्ष बसंत चतुर्वेदी ने कहा है कि रेलवे के कई विभाग धीरे-धीरे ठेके पर दिये जा रहे हैं। भारतीय रेलवे में 2.87 लाख पद खाली हैं। यही कारण है कि रेलवे में दुर्घटनाएं बढ़ती जा रही हैं। केंद्रीय अध्यक्ष बुधवार को रेलवे गेस्ट हाउस में पत्रकारों से वार्ता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि गाड़ियों का संचालन तो बढ़ाया जा रहा है, लेकिन पदों की संख्या बढ़ने के स्थान पर घट रही है। हजारों कर्मचारी प्रति वर्ष सेवानिवृत हो रहे हैं। इससे अनुभवी और स्किल्ड कर्मचारियों का अभाव हो रहा होता जा रहा है। चतुर्वेदी ने कहा कि भारत सरकार 24 बड़े रेलवे स्टेशनों को ठेके पर देने जा रही है। लगभग 400 स्टेशनों को ठेके पर देने का प्रस्ताव है। उन्होंने इसे रेलवे को बेचने की साजिश बताया। कहा कि इज्जतनगर मंडल में स्टेशन मास्टरों की भारी कमी है। इसके चलते कर्मचारियों को आठ के स्थान पर 12 घंटे ड्यूटी करनी पड़ रही है। कर्मचारियों को अतिरिक्त कार्य के बदले ओवरटाइम का भुगतान नहीं किया जा रहा है। बजट के अभाव में आवासों की समस्या का समाधान नहीं हो पा रहा है। छह-छह महीने से कर्मचारियों को टीए और नाइट ड्यूटी का भुगतान नहीं किया जा रहा है। सरकार यात्रियों को सुविधाएं दे रही है, लेकिन कर्मचारियों की सुविधाओं पर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। भारत सरकार ने पे कमीशन की रिपोर्ट जनवरी 2016 से लागू की, लेकिन भत्तों का भुगतान जुलाई 2017 से किया गया। जो कर्मचारियों के साथ धोखा है। कहा कि यूनियन ने दबाव बनाकर रेलवे बोर्ड से पांच करोड़ रुपये स्वीकृत करा लिये हैं। कर्मचारियों की समस्याएं सुनीकाशीपुर। एनई मजदूर यूनियन के केंद्रीय अध्यक्ष बसंत चतुर्वेदी ने स्टेशन के साथ कर्मचारियों की कॉलोनियों का निरीक्षण कर समस्याएं सुनी। वहीं शाखा मंत्री अभिषेक सिन्हा ने समस्याओं से अवगत कराया। इस मौके पर सहायक मंडल मंत्री हरीश भारती, शाखा अध्यक्ष कृष्ण कुमार शर्मा, अच्छे लाल सिंह, राजेंद्र सिंह बिष्ट, छोटे लाल यादव, रियासत हुसैन, संजय कुमार, एसके राय आदि मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:vacant post cause rail acidents says chaturvedi