DA Image
8 मार्च, 2021|2:51|IST

अगली स्टोरी

जिले से तीन हजार ट्रैक्टर होंगे 23 को दिल्ली रवाना

default image

बाजपुर। हमारे संवाददाता

26 जनवरी को दिल्ली में होने वाली विशाल ट्रैक्टर परेड में हिस्सा लेने के लिये क्षेत्र से एक हजार से अधिक किसान अपने अपने ट्रैक्टर लेकर दिल्ली कूच करेंगे। साथ ही पूरे जिले से तीन हजार से अधिक ट्रैक्टर दिल्ली के लिये 23 जनवरी को रवाना होंगे। वहीं किसानों ने प्रशासन को किसानों को रोकने का प्रयास न करने की चेतावनी दी।

सोमवार को गुरुद्वारा सिंह सभा में भाकियू प्रदेश अध्यक्ष कर्म सिंह पड्डा की अध्यक्षता में किसानों की बैठक हुई। भाकियू प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि 23 जनवरी को दिल्ली रवाना होना है। क्षेत्र से करीब एक हजार से अधिक ट्रैक्टर को ले जाने का लक्ष्य रखा है। पड्डा ने कहा कि क्षेत्र के हजारों किसान इस रैली में जाने के लिये तैयार है। बताया कि प्रत्येक गांव से लोगों को ले जाने के लिये मंगलवार से अभियान शुरू किया जा रहा है। अभियान के तहत 13 सदस्यीय कमेटी लोगों से मिलकर उन्हें दिल्ली जाने के लिये प्रेरित करेगी। उन्होंने बताया कि मंगलवार को सबसे पहले गांव बेरिया दौलत गुरुद्वारा साहिब में बैठक का आयोजन किया गया है। उसके बाद अलग-अलग गांवों में चार और बैठकें की जायेंगी। किसान नेता अजीत प्रताप रंधावा ने बताया कि पूरे जिले से तीन हजार से अधिक किसान दिल्ली के लिये 23 जनवरी को निकलेंगे। उन्होंने बताया कि खटीमा, रुद्रपुर, जसपुर, काशीपुर, गदरपुर, किच्छा आदि के किसान बड़ी संख्या में दिल्ली कूच करेंगे। उन्होंने कहा कि पुलिस इन किसानों को रोकने का प्रयास न करे। किसान शांतिपूर्वक निकल रहे हैं और रैली निकालना उनका अधिकार भी है।

इस मौके पर हरमिंदर सिंह बरार, अजीत प्रताप रंधावा, बिजेंद्र डोगरा, दलजीत रंधावा, विक्की रंधावा, विक्रम लड्डू, राणा रणजोत, प्रताप सिंह संधू, हरवीर सिंह, जगपाल सिंह आदि अनेकों किसान मौजूद रहे।

गाजीपुर बार्डर पर भूख हड़ताल पर बैठीं सुनीता

बाजपुर। दिल्ली के गाजीपुर बार्डर पर महिला सम्मान दिवस मनाया गया। इस दौरान महिलाओं ने मंच की जिम्मेदारी संभाली। साथ ही पीसीसी सदस्य सुनीता टम्टा बाजवा समेत 21 महिलाओं ने भूख हड़ताल की। मंच से सुनीता टम्टा ने कहा कि सरकार अब तानाशाह रवैया छोड़ दे क्योंकि किसान कानूनों की वापसी के बिना समझौता नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि अब किसान परिवारों की महिलाएं भी आंदोलन में कूद गयी हैं। वे भी 26 जनवरी को ट्रैक्टर रैली में शामिल होंगी। इसके बाद 21 महिलाओं ने गाजीपुर बार्डर पर भूख हड़ताल की। वहीं दोपहर में महिला कबड्डी टूर्नामेंट का शुभारंभ समाजसेवी जगतार सिंह बाजवा ने किया। इस टूर्नामेंट में पांच राज्यों की आठ टीमों ने प्रतिभाग किया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Three thousand tractors will be sent from the district to Delhi on 23rd