DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तराखंड  ›  काशीपुर  ›  काशीपुर में अंधड़ से छप्पर गिरा, दो बच्चे घायल

काशीपुरकाशीपुर में अंधड़ से छप्पर गिरा, दो बच्चे घायल

हिन्दुस्तान टीम,काशीपुरPublished By: Newswrap
Tue, 01 Jun 2021 05:40 PM
बीती देर रात आये तेज अंधड़ से ग्राम बैलजुड़ी में एक मकान क्षतिग्रस्त हो गया। मकान का छप्पर और दीवार गिरने से दो बच्चे घायल हो गए। वहीं तेज अंधड़ ने...
1 / 2बीती देर रात आये तेज अंधड़ से ग्राम बैलजुड़ी में एक मकान क्षतिग्रस्त हो गया। मकान का छप्पर और दीवार गिरने से दो बच्चे घायल हो गए। वहीं तेज अंधड़ ने...
बीती देर रात आये तेज अंधड़ से ग्राम बैलजुड़ी में एक मकान क्षतिग्रस्त हो गया। मकान का छप्पर और दीवार गिरने से दो बच्चे घायल हो गए। वहीं तेज अंधड़ ने...
2 / 2बीती देर रात आये तेज अंधड़ से ग्राम बैलजुड़ी में एक मकान क्षतिग्रस्त हो गया। मकान का छप्पर और दीवार गिरने से दो बच्चे घायल हो गए। वहीं तेज अंधड़ ने...

काशीपुर। संवाददाता

बीती देर रात आये तेज अंधड़ से ग्राम बैलजुड़ी में एक मकान क्षतिग्रस्त हो गया। मकान का छप्पर और दीवार गिरने से दो बच्चे घायल हो गए। वहीं तेज अंधड़ ने ऊर्जा निगम को भारी क्षति पहुंचाई है। हाईटेंशन लाइन के कई स्थानों पर तार और नगर व ग्रामीण क्षेत्रों में कई बिजली पोल टूटने से अधिकांश क्षेत्र की रातभर आपूर्ति बाधित रही।

सोमवार देर रात लगभग तीन बजे आए तेज अंधड़ व बरसात से ग्राम बैलजुड़ी में नबी हसन पुत्र मेहंदी हसन के मकान का छप्पर व दीवार गिरने से उसके दो बच्चे आयशा(5) व आहिल रजा दब गए। शोर-शराबा होने पर आसपास रहने वालों ने बामुश्किल दोनों बच्चों को मलबे से बाहर निकाला। दोनों के सिर पर चोट आयी है। सूचना पर मंगलवार को हल्का पटवरी सरताज खान ने मौके पर पहुंच कर नुकसान का जायजा लिया और रिपोर्ट उच्च अधिकारियों को भेजी। उन्होंने बताया कि इस घटना में नबी हसन के घरेलू सामान को भी नुकसान पहुंचा है। सारा सामान खराब हो गया है।

इनसेट-

सात घंटे बाद कई स्थानों पर चालू हो सकी बिजली आपूर्ति

सोमवार देर रात अचानक तेज आंधी के साथ बारिश हुई। इससे ग्राम पैगा, अलीगंज रोड, ढकिया गुलाबो, बाली पेट्रोल पंप के पास, प्रतापपुर, फिरोजपुर, कुंडेश्वरी, एनडी नगर आलू फार्म, गौतमनगर आदि क्षेत्रों में 33, 11 केवी के 100 से अधिक छोटे-बड़े खंभे और कई स्थानों पर विद्युत लाइन क्षतिग्रस्त हो गई। कुछ स्थानों पर लाइनों पर पेड़ भी गिरे हैं। इससे शहर और ग्रामीण क्षेत्र की आपूर्ति ठप हो गई। इससे लोगों परेशानी का सामना करना पड़ा। सुबह करीब दस बजे तक ऊर्जा निगम की टीम ने सैनिक कालोनी, पशुपति विहार, जसपुर खुर्द, पटेल नगर, गिरीताल आदि स्थानों की आपूर्ति की गई। दोपहर तक श्रमिकों के पहुंचने पर पक्काकोट, एनडी नगर, महुआखेड़ा गंज आादि बाधित क्षेत्रों की देर शाम तक आपूर्ति बहाल की जा सकी। वहीं एसडीओ (नगर) जगपाल सिंह ने बताया शहरी क्षेत्र में लगभग दो लाख के नुकसान का अनुमान है। उधर, ग्रामीण क्षेत्र के एसडीओ एसके सैनी ने बताया ग्रामीण क्षेत्र में बहुत अधिक विभाग को नुकसान पहुंचा है। अभी कई स्थानों पर काम चलने के चलते नुकसान का आंकलन नहीं लगाया जा सका है।

आम-लीची को 20% तक नुकसान

काशीपुर। कृषि विज्ञान केंद्र के प्रभारी डॉ.जितेंद्र क्वात्रा ने बताया बीती रात आए तेज अंधड़ से आम व लीची के फल टूटने से लगभग 15 से 20 के नुकसान का अनुमान है। हालांकि बरसात लीची के लिए लाभदायक है। इससे लीची का फल मोटा होगा। वहीं कई खेतों में खड़ी मक्का की फसल गिर गई है। जबकि गन्ना व धान की फसल जो कि गर्मी में बोई जाती है उसका लाभ मिलेगा। इसके अलावा सब्जी की फसल को खेतों में पानी भरने से नुकसान होगा।

अमरूद की फसल को 15 फीसदी नुकसान

जसपुर। आंधी तूफान बारिश से आम एवं अमरूद की फसल को 15 से लेकर बीस प्रतिशत तक नकसान हुआ है। भाकियू के ब्लाक अध्यक्ष मुख्तार सिंह ने बताया कि बारिश और आंधी से आम अमरूद को नुकसान हुआ है। जबकि गन्ने की फसल को लाभ मिला है। वहीं, मंगलवार को बाजार में भी आम के बराबर की अमिये 15 रूपये किलो बिकी। सहायक उधान अधिकारी नेहा वर्मा ने बताया कि आम अमरूद के अलावा केले की फसल को भी पांच प्रतिशत नुकसान हुआ है।

संबंधित खबरें