DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तराखंड  ›  काशीपुर  ›  काशीपुर में सुहागिनों ने की वट सावित्री की पूजा

काशीपुरकाशीपुर में सुहागिनों ने की वट सावित्री की पूजा

हिन्दुस्तान टीम,काशीपुरPublished By: Newswrap
Thu, 10 Jun 2021 05:40 PM
काशीपुर में सुहागिनों ने की वट सावित्री की पूजा

पति की लंबी आयु के लिए महिलाओं ने मंदिरों में वट वृक्ष की पूजा-अर्चना की। इस दौरान महिलाओं ने अखंड सौभाग्य का व्रत रखकर विधि-विधान से वट वृक्ष का पूजन किया और पति के दीर्घायु की कामना की।

गुरुवार को गिरीताल स्थित मां चामुंडा देवी मंदिर, कटोराताल स्थित श्री नागनाथ शनिधाम मंदिर में सुबह से सुहागिनों की भीड़ उमड़ पड़ी। महिलाओं ने पारंपरिक परिधानों से सजी-धजी महिलाओं ने वट वृक्ष पर जल, फल व वस्त्र चढ़ाए और कलावा को पेड़ पर बांधा। यह व्रत प्रत्येक वर्ष ज्येष्ठ मास की अमावस्या को रखा जाता है। इस दिन महिलाएं वट वृक्ष की पूजा कर अखंड सौभाग्य की कामना करती है। श्री शनि धाम के पुजारी अमरनाथ प्रशांत शास्त्री ने बताया शास्त्रों में वट को देव वृक्ष बताया गया है। इसके मूल भाग में ब्रह्मा, मध्य भाग में भगवान विष्णु और अग्र भाग में भगवान शिव का वास माना जाता है। देवी सावित्री भी वट वृक्ष में प्रतिष्ठित रहती हैं। मान्यता है वट वृक्ष के नीचे ही सावित्री ने अपने पति सत्यवान को दोबारा जीवित कर लिया था। इसलिए यह व्रत वट सावित्री के नाम से जाना जाता है और हिन्दू धर्म में इस व्रत का विशेष महत्व है।

संबंधित खबरें