DA Image
4 दिसंबर, 2020|7:03|IST

अगली स्टोरी

साल 2022 में शुरू होगा नादेही चीनी मिल में पावर प्लांट

default image

जसपुर। हमारे संवाददाता

चीनी मिल की वित्तीय स्थिति मजबूत करने के लिए मिल परिसर में 115 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाला पांवर प्लांट का काम 2022 में पूरा हो जायेगा। प्लांट का काम पेराई सत्र समाप्त होने के बाद चालू कर दिया जायेगा। इसके लिए पूरी तैयारी कर ली गई है।

बता दें वर्ष 2017 में चीनी मिल एवं यूजेवीएन लिमिटेड के बीच नादेही में 115 करोड़ की लागत से पावर प्लांट लगाने का करार हुआ था। यूजेवीएन लिमिटेड ने नादेही मिल परिसर में दफ्तर खोलकर सलाहकार भी नियुक्त कर दिया। साथ ही मिल कालोनी में कार्मिकों के रहने के आवास भी दिए गए। बावजूद इसके प्लांट का कार्य शुरू नहीं हुआ। नादेही चीनी मिल पहुंचे गन्ना सचिव एवं एमडी चन्द्रेश यादव ने 'हिन्दुस्तान' को बताया कि गन्ना उद्योग को उबारने के लिए एथानॉल एवं पावर प्लांट जैसे प्रोजेक्ट लगाये जा रहे हैं। बताया कि पेराई सत्र पूरा होने के बाद पावर प्लांट का काम शुरू कर दिया जायेगा। बताया कि प्लांट को लेकर टेंडर हो चुके हैं। दिसंबर में टेंडर फाइनल हो जायेंगे। 2022 में प्लांट शुरू हो जायेगा। इस दौरान विधायक आदेश चौहान, जीएम सीएस इमलाल आदि मौजूद रहे।

पावर प्लांट में बनेगी 16 मेगावाट बिजली

जसपुर। चीनी मिल नादेही में चीनी उत्पादन के लिए आधुनिकीकरण की उच्च तकनीकी अपनाने के लिये अतिरिक्त बैगास बचत के जरिये मिल में 16 मेगावाट विद्युत उत्पादन की सह इकाई स्थापित होगी। मिल के प्रधान प्रबंधक सीएस इमलाल ने बताया कि पावर प्लांट को स्थापित करने में एक अरब पन्द्रह लाख का व्यय आयेगा। इससे जलविद्युत निगम एवं शासन सुरक्षित टर्म लोन के रूप में खर्च को वहन करेगा।

पावर प्लांट से चलेगी मिल की टरबाइन ओर ब्वायलर

जसपुर। मिल के प्रधान प्रबंधक सीएस इमलाल ने बताया कि पावर प्लांट के लिये मिल को 35 लाख कुंतल गन्ने की आवश्यकता होगी। इसके लिए क्षेत्र के कृषकों से अधिक गन्ने की बुवाई करने की अपील की गई है। मिल ने इस बार 30 लाख कुंतल गन्ने के करीब पेराई करेगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Power plant to start in 2022 at Nadehi sugar mill