Saturday, January 22, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तराखंड काशीपुरगुरूद्वारा श्री नानकसर ठाठ गजरौला में 7 दिनों तक चलने वाले सलाना गुरू मान्यो ग्रंथ समागम के पहले दिन दूर दराज से आये गुरू के प्यारों ने गुरू की महिमा का बखान किया। गुरू का लंगर अटूट बरताया गया।

गुरूद्वारा श्री नानकसर ठाठ गजरौला में 7 दिनों तक चलने वाले सलाना गुरू मान्यो ग्रंथ समागम के पहले दिन दूर दराज से आये गुरू के प्यारों ने गुरू की महिमा का बखान किया। गुरू का लंगर अटूट बरताया गया।

हिन्दुस्तान टीम,काशीपुरNewswrap
Thu, 02 Dec 2021 04:50 PM
गुरूद्वारा श्री नानकसर ठाठ गजरौला में 7 दिनों तक चलने वाले सलाना गुरू मान्यो ग्रंथ समागम के पहले दिन दूर दराज से आये गुरू के प्यारों ने गुरू की महिमा का बखान किया। गुरू का लंगर अटूट बरताया गया।

बाजपुर। गुरुद्वारा श्री नानकसर ठाठ गजरौला में 7 दिनों तक चलने वाले सलाना गुरु मान्यो ग्रंथ समागम के पहले दिन दूर-दराज से आए गुरु के प्यारों ने गुरु की महिमा का बखान किया। गुरु का लंगर अटूट बरताया गया।

ग्राम गजरौला में स्थित गुरुद्वारा श्री नानकसर ठाठ में समागम के पहले दिन पहुंचे प्रसिद्ध कथावाचक हरजीत सिंह ने कहा कि गुरु महाराज की हपजूरी में विराजमान प्रत्येक सिख गुरु साहिब के हुक्म अनुसार सवा लाख के समान है, उसे किसी से डरने की जरूरत नहीं है। अमरजीत सिंह गालिब खुर्द वालों ने कहा कि जो भी व्यक्ति गुरुवाणी को आत्मसात करता है, उस पर ईश्वर की कृपा होती है और जो भी वह मांगता है, उसे अवश्य मिलता है। सभी कष्टों का निवारण गुरुवाणी में निहित है और यही सत्य का मार्ग भी है। कविशरी जत्थे के भगवंत भगवान सिंह ने कहा कि मनुष्य को काम, क्रोध, लोभ, मोह, हट मन के अंदर नहीं लाना चाहिए। इनसे दूर रहने वाला व्यक्ति ही आत्मज्ञान की प्राप्ति कर पाता है। प्रमुख सेवादार बाबा प्रताप सिंह ने कहा कि गुरु के दिखाए मार्ग पर सभी को चलना चाहिए। कार्यक्रम में अर्शी टाढ़ी जत्था के पूर्व सिंह, सतनाम सिंह, दलजीत सिंह खालसा, दर्शन सिंह, दर्शनपाल सिंह, जगतार सिंह बाजवा, कमलप्रीत पन्नू, गुरप्रीत सिंह, तजेंद्र सिंह विर्क, आशीष मित्तल, हरपाल सिंह राणा आदि मौजूद थे।

epaper

संबंधित खबरें