DA Image
30 अक्तूबर, 2020|7:52|IST

अगली स्टोरी

मरीज की मौत के बाद अस्पताल में शव रोकना गैरकानूनी : चीमा

default image

काशीपुर। विधायक हरभजन सिंह चीमा ने कहा है कि किसी भी कारण से मरीज की मौत हो जाने पर अस्पताल प्रशासन का परिजनों और तीमारदारों से तुरंत पैसे की मांग करना उचित नहीं है। इस मामले में अस्पताल के खिलाफ मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया को एक्शन लेना होगा।

शुक्रवार को जारी बयान में विधायक हरभजन सिंह चीमा ने कहा कई मामले में देखा जाता है कि निजी अस्पताल में किसी भी कारण से मरीज की मौत हो जाने पर अस्पताल उनके परिजनों व तीमारदारों से तुरंत पैसे की मांग करता है। वहीं अस्पताल मरीज का शव तक नहीं उठाने देते हैं। कहा कि अस्पतालों में सुप्रीम कोर्ट का आदेश सख्ती से लागू होना चाहिए। ऐसा होने से अस्पताल की मरीज के प्रति जिम्मेदारी बढ़ेगी। सुप्रीम कोर्ट के आदेश का हवाला देते हुए विधायक चीमा ने कहा आदेश है कि किसी की मौत होने पर अस्पताल में बकाया भुगतान की मांग करते हुए शव नहीं रोका जा सकता। वसूली के लिए अस्पताल को विधि रूप से कार्यवाही करनी होगी। अगर कोई अस्पताल आदेश का पालन नहीं करता है तो उस अस्पताल के खिलाफ मेडिकल काउंसिल आफ इंडिया को एक्शन लेना होगा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:It is illegal to stop the dead body in the hospital after the death of the patient Cheema