DA Image
14 नवंबर, 2020|2:40|IST

अगली स्टोरी

बाजपुर की हेमा का शरीर रिसर्च के लिए ले गई टीम

बाजपुर की हेमा का शरीर रिसर्च के लिए ले गई टीम

1 / 2एक बुजुर्ग महिला की इच्छा अनुसार मरणोपरांत उनका देह रिसर्च के लिये मेडिकल कॉलेज से आई टीम अपने साथ ले गई। यह महिला डेरा सच्चा सौदा की अनुयायी थी। महिला ने 10 वर्ष पूर्व डेरा प्रमुख संत राम रहीम की...

बाजपुर की हेमा का शरीर रिसर्च के लिए ले गई टीम

2 / 2एक बुजुर्ग महिला की इच्छा अनुसार मरणोपरांत उनका देह रिसर्च के लिये मेडिकल कॉलेज से आई टीम अपने साथ ले गई। यह महिला डेरा सच्चा सौदा की अनुयायी थी। महिला ने 10 वर्ष पूर्व डेरा प्रमुख संत राम रहीम की...

PreviousNext

एक बुजुर्ग महिला की इच्छा अनुसार मरणोपरांत उनका देह रिसर्च के लिये मेडिकल कॉलेज टीम अपने साथ ले गई। यह महिला डेरा सच्चा सौदा की अनुयायी थी। महिला ने 10 वर्ष पूर्व डेरा प्रमुख संत राम रहीम की देखरेख में अपनी देहदान करने का फार्म भरा था।

भौना इस्लाम नगर निवासी 80 वर्षीय हेमा देवी बीते एक वर्ष से बीमार चल रही थी। मंगलवार देर रात उनकी बीमारी के चलते मौत हो गई थी। बुधवार को परिजनों ने उनकी अंतिम इच्छा के अनुसार डेरा सच्चा सौदा सिरसा में जानकारी देकर देहदान करने को बोला। इसके बाद तीर्थाकंर यूनिवर्सिटी मुरादाबाद से चिकित्सकों की टीम बाजपुर पहुंची। कागजी कार्रवाई करने के बाद वह अपने साथ हेमा के पार्थिव शरीर को ले गई। इस दौरान डेरे के अनुयायियों ने फूलों की बरसात और नारे लगाकर अंतिम विदाई दी। डेरा सच्चा सौदा के जिला 25 नंबर पूरन जोशी इंसां ने कहा हेमा ने 10 वर्ष पूर्व ही डेरा सिरसा में फार्म भरकर मरणोपरांत अपनी देहदान करने के लिये आवेदन किया था। कहा ऐसे लोग मरने के बाद भी अमर हो जाते हैं। बताया इससे पहले भी बाजपुर में स्व. राज खुल्लर इंसां तथा मुख्तियार सिंह इंसां ने भी अपना देह दान किया था। हेमा अपने पीछे अपनी बेटी तथा नाती चंद्रपाल को छोड़ गई हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Hema 39 s body from Bajpur took team for research