DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भाजपा राज में महंगाई ने कमर तोड़ दी: रावत

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा है कि भाजपा की केंद्र और राज्य सरकार किसान और व्यापारी विरोधी है। भाजपा के शासन में अपने राज्य में नौ किसानों ने आत्महत्या कर अपने प्राण गंवा दिये। इससे शर्मसार स्थिति दूसरी नहीं हो सकती।बुधवार को पूर्व सीएम हरीश रावत नेशनल हाईवे स्थित लेवड़ा पुल के पास भाकियू के प्रदेश उपाध्यक्ष अजीत प्रताप रंधावा के अवास पर पहुंचे थे। यहां उन्होंने किसानों की बैठक ली।

रावत ने कहा कि प्रदेश का किसान संपन्न है तो प्रदेश संपन्न है। अगर किसान संपन्न नहीं तो प्रदेश कभी संपन्न नहीं हो सकता। आज भाजपा के राज में महंगाई ने किसानों व्यापारियों कर्मचारियों की कमर तोड़ कर रख दी है। महंगाई चरम पर है। इसके चलते हर वर्ग में त्राहि-त्राहि मची हुई है। प्रदेश की जनता अब भाजपा की कथनी-करनी को समझ गई है। इसका नतीजा समय-समय पर जनता स्वयं उनके सामने लाकर दिखा रही है, लेकिन भाजपा फिर भी अपनी आदतों से बाज नहीं आ रही है। पूर्व सीएम ने कहा कि बाजपुर सितारगंज नादेही आदि चीनी मिलें नई तकनीक से सुसज्जित होनी चाहिए, लेकिन भाजपा सरकार इस तरफ से भी आंखें मूंदे बैठी है। रावत ने सभी किसानों को एकजुट होने की सलाह दी। इस मौके पर भारतीय किसान यूनियन प्रदेश उपाध्यक्ष अजीत प्रताप सिंह रंधावा, बलराज रंधावा, अजीत सिंह, कीरत सिंह ढिल्लो, बलराज सिंह, जगतार सिंह बाजवा, तेगवीर पुनियन, विक्रम कपूर, जोरावर सिंह, विजेंद्र सिंह डोगरा आदि लोग मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:former CM Rawat took farmer's meeting