DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तराखंड  ›  काशीपुर  ›  फीका और ढेला नदी पिचिंग को नहीं मिली रकम
काशीपुर

फीका और ढेला नदी पिचिंग को नहीं मिली रकम

हिन्दुस्तान टीम,काशीपुरPublished By: Newswrap
Sun, 20 Jun 2021 06:50 PM
फीका और ढेला नदी पिचिंग को नहीं मिली रकम

जसपुर। ग्रामीणों को बाढ़ से निजात दिलाने एवं फीका एवं ढेला नदी के फैलाव को कम करने के उद्देश्य से पिछले साल सरकार से मांगी रकम सिंचाई विभाग को अभी तक नहीं मिली है। इसको लेकर विभाग चिंतित है।

बरसात में फीका एवं ढेला नदी अपना रुख बदल लेती हैं। पानी के तेज बहाव से न केवल नदी किनारे की फसलें बर्बाद हो जाती हैं बल्कि कई जगह बंधे में भी दरार आ जाती है। पिछले साल पानी आने के बाद नदियों के बंधे पर पिचिंग का कार्य किया गया था। ग्रामीणों ने बताया कि नदियों में लगातार हो रहे मिट्टी के अवैध खनन के कारण भी नदी अपने रुख से भटक गई है। सिंचाई विभाग के सहायक अभियंता एमएस बोरा ने बताया कि दोनों नदियों का फैलाव अधिक होने पर रिवर ट्रेनिंग नीति के तहत नदियों के फैलाव एवं उसकी प्रवाह को बदलने के उद्देश्य से 73 लाख रुपये के प्रोजेक्ट शासन को भेजे गए थे। बताया कि एक साल बाद भी प्रोजेक्ट की वित्तीय स्वीकृति नहीं मिली है। बताया कि बरसात सिर पर रकम न मिलने से वह परेशान है।

पिचिंग के लिए मांगे 40 तो मिले 20 लाख

जसपुर। एई एमएस बोरा ने बताया कि दोनों नदी बरसात के दिनों में सबसे ज्यादा कृपाचार्यपुर एवं बैलजुड़ी में कटाव करती है। कटाव के चलते पिछले साल कई लोगों के मकान ढह गए थे। लोगों को दिक्कतों से बचाने को दोनों नदियों में पिचिंग लगाने को बीस बीस लाख रुपये के प्रोजेक्ट भेजे गए थे। सरकार ने बैलजुड़ी के लिए बीस लाख रुपये भेज दिए। लेकिन, कृपाचार्यपुर के लिए एक साल बाद भी रकम नहीं भेजी है।

विधायक ने डीएम से की पिचिंग की मांग

जसपुर। विधायक आदेश चौहान ने डीएम से मुलाकात कर फीका एवं ढेला नदी के कटाव को रोकने को पिंचिग कराने को कहा। विधायक की मांग पर डीएम ने नदियों की पिचिंग कराने का भरोसा दिलाया है।

संबंधित खबरें