DA Image
5 दिसंबर, 2020|11:40|IST

अगली स्टोरी

फर्जी प्रमाण पत्र रद कराने को आमरण अनशन

default image

फर्जी कागजों से बने स्थाई प्रमाणपत्र को लेकर धरने पर बैठे युवक ने तहसीलदार प्रेम सिंह चौहान के समझाने के बाद भी अपना अनशन समाप्त नहीं किया।बता दें गांव एनएन टोपा निवासी जाकिर हुसैन ने एक आंगनबाड़ी सहायिका के खिलाफ फर्जी साक्ष्यों के आधार पर प्रमाण पत्र बनाकर सहायिका बनने की शिकायत अधिकारियों से की थी।

लेकिन, साक्ष्यों को दिखाने के बाद भी सहायिका का प्रमाण पत्र बनने से सोमवार को जाकिर हुसैन ने अपना धरना शुरू किया था। कार्रवाई नहीं होने पर 21 से आमरण अनशन पर बैठने की चेतावनी दी थी। इसी को लेकर बुधवार को जाकिर ने अपना आमरण अनशन शुरू कर दिया। वहीं धरने पर उन्हें सपा नेता अरविंद यादव और बहुजन क्रांति मोर्चा नेता धनराज भारती ने समर्थन दिया। देर शाम तहसीलदार प्रेम सिंह चौहान अनशनकारी जाकिर हुसैन को समझाने अनशन स्थल पर पहुंचे। जाकिर को दोबारा जांच कराने का आश्वासन देकर धरना समाप्त करने को बोला, लेकिन जाकिर ने कहा वह दोबारा जांच के पक्ष में नहीं है। क्योंकि जो साक्ष्य वह अब दिखायेंगे, उन्हीं साक्ष्यों को पहले भी दिखाया था। साक्ष्य सही होने के बाद भी उसकी शिकायत को नजरंदाज कर प्रमाण पत्र बना दिया गया। जाकिर ने दो टूक कहा जब तक प्रमाण पत्र रद नहीं हो जाता वह अपना अनशन समाप्त नहीं करेंगे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Fast unto death for cancellation of fake certificate