DA Image
Monday, November 29, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तराखंड काशीपुरपेराई शुरू नही होने से भड़के किसानों का हंगामा

पेराई शुरू नही होने से भड़के किसानों का हंगामा

हिन्दुस्तान टीम,काशीपुरNewswrap
Thu, 25 Nov 2021 01:30 PM
पेराई शुरू नही होने से भड़के किसानों का हंगामा

बाजपुर। पेराई सत्र के चार दिन बाद भी गन्ना पेराई शुरू नहीं होने से भड़के किसानों ने चीनी मिल में जमकर हंगामा किया। गुस्साये किसानों ने चीफ इंजीनियर पर लापरवाही का आरोप लगा उनको जमकर खरीखोटी सुनाई तथा 26 नवंबर तक मिल को सुचारू करने की चेतावनी दी। वहीं गुस्साये युवा किसानों ने चीफ इंजीनियर से धक्कामुक्की करने का भी प्रयास किया लेकिन भाकियू प्रदेश अध्यक्ष कर्म सिंह पड्डा द्वारा बीच बचाव करने से मामला शांत हुआ। हंगामे के बीच पहुंचे प्रधान प्रबंधक कैलाश टोलिया ने किसानों को 26 नवंबर तक मिल सुचारू करने का आश्वान दिया।

बीती 21 नवंबर को कैबिनेट मंत्री अरविंद पांडे द्वारा चीनी मिल के पेराई सत्र का शुभारंभ किया गया था। इस शुभारंभ के मौके पर भाकियू से जुड़ा कोई भी किसान मौके पर नहीं पहंुचा था। आरोप है कि शुभारंभ के 4 दिन बाद भी मिल प्रशासन द्वारा गन्ने की पेराई को सुचारू नहीं किया गया सिर्फ खानापूर्ति के लिये छोटी चेन शुरू कर दी गई। पेराई सुचारू नहीं होने के कारण गन्ना लेकर आये किसान 24 से 48 घंटों तक अपने इंतजार में खड़े हैं। गुरूवार को भाकियू प्रदेश अध्यक्ष कर्म सिंह पड्डा के साथ दर्जनों किसान चीनी मिल पहंुचे जहां पर इन लोगों ने पेराई न होने पर जमकर हंगामा किया। किसानों ने चेन के पास खड़े होकर प्रदर्शन किया। वहीं पहंुचे चीफ इंजीनियर अभिषेक कुमार के खिलाफ लापरवाही का आरोप लगाते हुए उन्होंने नारेबाजी की। आरोप था कि चीफ इंजीनियर द्वारा मिल की मरम्मत समय से नहीं कराई गई जिस कारण चेन शुरू नहीं हो पाई व अब पेराई में दिक्कत हो रही। युवा किसानों ने चीफ इंजीनियर के साथ धक्कामुक्की व गली गलौच भी कर दी। हंगामा बढ़ता देख पहंुचे भाकियू प्रदेश अध्यक्ष कर्म सिंह पड्डा ने बीच बचाव किया। किसानों ने मिल प्रशासन को सख्त चेतावनी दी है कि यदि 26 नवंबर तक मिल में पेराई सुचारू नहीं होती है तो किसान 27 को उग्र आंदोलन करेंगे। मौके पर कर्म सिंह पड्डा, दलजीत सिंह रंधावा, बिजेंद्र डोगरा, विक्की रंधावा, सन्नी निज्जर, गगन सरना, कुलदीप सिंह, सुरेंद्र शर्मा, हरभजन सिंह, बिजेंद्र राठौर, इकबाल सिंह, मंजीत सिंह, निजामुद्दीन आदि अनेकों किसान मौजूद रहे।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें