DA Image
13 जनवरी, 2021|6:11|IST

अगली स्टोरी

द्रोणासागर-गिरीताल को पर्यटन सर्किट में लाने के होंगे प्रयास : सतपाल

default image

काशीपुर। पर्यटन और सिंचाई मंत्री सतपाल महाराज ने कहा प्रदेश में धार्मिक सर्किट बनाये जा रहे हैं। इसमें कुमाऊं और गढ़वाल के 12-12 कुल 24 मंदिर हैं। काशीपुर के द्रोणासागर और गिरीताल को भी पर्यटन सर्किट में लाने के पूरे प्रयास किये जाएंगे।

बुधवार को कैबिनेट मंत्री महाराज ने कहा काशीपुर के मोटेश्वर महादेव मंदिर को शिव सर्किट, गुरुद्वारा ननकाना साहिब को गुरुद्वारा सर्किट और गोविषाण टीले को बौद्ध सर्किट में शामिल किया है। कहा वह महाभारत सर्किट को विकसित करना चाहते हैं। केंद्र सरकार ने इसे बड़ा बताते हुए छोटा करने को कहा है। इसमें काशीपुर का द्रोणासागर भी शामिल है। उन्होंने कहा प्रथम चरण में द्रोणासागर विकास के लिये 15.89 करोड़ की डीपीआर बनाई गई है। जबकि दूसरे चरण में गिरीताल की डीपीआर बनाई जाएगी। कहा कोविड में कई बाधाएं सामने आई। समस्या आई चार धाम के कपाट कैसे खुलवाएं जाएं। इसके लिये केंद्रीय मंत्रियों से वार्ता कर प्रयास किये गये। प्रयासों से चार धाम खोले गये और सभी परंपराओं का ध्यान रखा गया। साथ ही धीरे-धीरे यात्रा भी चली। उन्होंने कहा हल्द्वानी शहर वह उसके उपनगरीय क्षेत्रों में वर्ष 2051 की पेयजल आवश्यकता और ऊधमसिंह नगर के करीब 50 हजार हेक्टेअर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से प्रस्तावित 2584.10 करोड़ की जमरानी बांध परियोजना का शीघ्र कार्य शुरू करने के लिये सरकार प्रतिबद्ध है। योजना के तहत 14 मेगावाट क्षमता का जल विद्युत गृह निर्मित कर प्रतिवर्ष 63.4 मिलियन यूनिट बिजली उत्पादन का लक्ष्य निर्धारित किया है। यहां मेयर ऊषा चौधरी, दिनेश चंद्र मिश्रा, अमित नारंग, राकेश लखेड़ा, बबलू चौधरी, अजय कश्यप, जसवीर सिंह सैनी आदि रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Efforts will be made to bring Dronasagar-Girital to the tourism circuit Satpal