Consumer forum order insurance company to pay claim - उपभोक्ता फोरम के आदेश को आयोग ने माना सही DA Image
11 दिसंबर, 2019|3:47|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उपभोक्ता फोरम के आदेश को आयोग ने माना सही

अखिलेश कुमार की ओर से नदीम उद्दीन एडवोकेट ने जिला उपभोक्ता फोरम यूएस नगर में परिवाद दायर किया था। इसमें कहा था कि परिवादी ने श्री राम जनरल इश्योरेन्स कंपनी से 24438 प्रीमियम भुगतान करके अपनी कार यूके06एन/6838 का बीमा कराया था। बीमा अवधि में कार ड्राइवर के घर से सामने से 29 दिसंबर 2010 को चोरी हो गई थी। इस पर पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराने के साथ ही बीमा एजेंट के बताये फोन नंबरों पर सूचना दी गई, लेकिन जब बीमा कम्पनी के किसी अधिकारी या सर्वेयर ने कोई सम्पर्क नहीं किया तो डाक के माध्यम से सूचना दी। बीमा कम्पनी ने चोरी की सूचना 53 दिन देरी से देने का आरोप लगाते हुए बीमा क्लेम निरस्त कर दिया था। बीमा कम्पनी की ओर से तर्क दिया गया कि चोरी की लिखित सूचना पंजीकृत डाक से नहीं दी गई। इससे ये मान्य नहीं है।जिला उपभोक्ता फोरम के अध्यक्ष और सदस्या नरेश कुमारी छाबड़ा ने परिवादी के अधिवक्ता नदीम उद्दीन एडवोकेट के तर्कों को सुनने के बाद निर्धारित किया कि बीमा कम्पनी की तरफ से पेश की गई पॉलिसी की शर्तों में इस बात का उल्लेख नहीं है कि लिखित सूचना बीमा कम्पनी को कैसे दी जाएगी। इस शर्त में यह कहीं अंकित नहीं है कि ऐसी सूचना पंजीकृत डाक के माध्यम से बीमा कम्पनी को दी जायेगी। इसमें हम कोई ऐसा कारण नहीं पाते है कि यूपीसी की भेजी सूचना को अवैध माना जाये। या फिर बीमा कम्पनी की शर्त का उल्लंघन माना जाये।फोरम के निर्णय के अनुसार पुलिस रिपोर्ट से इस बात की पुष्टि होती है कि परिवादी का वाहन चोरी हुआ था। लिहाजा, परिवादी का दावा स्वीकार करने योग्य था। विपक्षी बीमा कम्पनी ने बीमा दावा निरस्त करके सेवा में कमी की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Consumer forum order insurance company to pay claim