DA Image
Saturday, November 27, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तराखंड काशीपुरअब किसी पार्टी को समर्थन नहीं देगी भाकियू : टिकैत

अब किसी पार्टी को समर्थन नहीं देगी भाकियू : टिकैत

हिन्दुस्तान टीम,काशीपुरNewswrap
Thu, 25 Nov 2021 07:10 PM
भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत ने कहा है कि भाजपा को समर्थन देना उनकी भूल थी। अब भाकियू किसी पार्टी को समर्थन नहीं देगी। किसान...
1/ 2भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत ने कहा है कि भाजपा को समर्थन देना उनकी भूल थी। अब भाकियू किसी पार्टी को समर्थन नहीं देगी। किसान...
भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत ने कहा है कि भाजपा को समर्थन देना उनकी भूल थी। अब भाकियू किसी पार्टी को समर्थन नहीं देगी। किसान...
2/ 2भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत ने कहा है कि भाजपा को समर्थन देना उनकी भूल थी। अब भाकियू किसी पार्टी को समर्थन नहीं देगी। किसान...

जसपुर। संवाददाता

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत ने कहा भाजपा को समर्थन देना उनकी भूल थी। अब भाकियू किसी पार्टी को समर्थन नहीं देगी। किसान जहां चाहे, उस पार्टी को वोट दे सकता है। उस पर किसी तरह का प्रभाव नहीं डाला जाएगा। उन्होंने किसानों से एकजुट रहने की अपील की।

गुरुवार को जसपुर पहुंचे भाकियू अध्यक्ष नरेश टिकैत ने कहा पिछले चुनाव में भाजपा को समर्थन देने का खामियाजा भुगत चुके हैं। उनका संगठन अराजनैतिक है। अब किसी पार्टी को समर्थन नहीं दिया जाएगा। कहा कि आंदोलन के दौरान किसानों को खालिस्तानी, आंदोलनजीवी समेत कई नाम दिए गए, लेकिन किसान शांति से अपना आंदोलन करते रहे। उन्होंने किसानों का धन्यवाद किया कि आंदोलन को किसी भी तरह से हिंसात्मक नहीं बनने दिया। तीनों कानून वापस लेने के सवाल पर टिकैत ने कहा कि पीएम दो शब्द सात सौ शहीद किसानों के बारे में भी बोल देते तो अच्छा होता। कहा कि अभी आंदोलन खत्म नहीं हुआ है। 27 नवंबर को संयुक्त मोर्चा की बैठक है। उसके बाद अगले की रणनीति का निर्णय लिया जाएगा। कहा कि किसान आंदोलन विश्व का सबसे बड़े आंदोलन के रूप में विख्यात हुआ है। इसके लिए भाकियू अध्यक्ष ने किसानों का आभार जताया।

बुजुर्गों का ध्यान रखने और राष्ट्रहित में काम करने की नसीहत

भाकियू अध्यक्ष नरेश टिकैत ने सभा में कहा कि अब बुजुर्गों को आराम देने की जरूरत है। उनका ध्यान रखें। युवा अपने कंधों पर आंदोलन को उठाएं। टिकैत ने कहा कि इस सब के साथ ही युवा देश हित में काम करें।

गन्ना आंदोलन के किसानों को मिले शहीदों का दर्जा

भाकियू अध्यक्ष नरेश टिकैत ने गुरुवार को जसपुर में गन्ना आंदोलन के शहीद किसानों की बरसी पर उन्हें भावपूर्ण तरीके से याद श्रद्धांजलि दी। किसानों को शहीदों का दर्जा देने की मांग की। नगर पंचायत महुवाडाबरा चौक पर किसानों ने गन्ना आंदोलन में शहीद हुए पूर्व पालिकाध्यक्ष कामरेड करन सिंह, हरस्वरूप सिंह को याद किया। भाकियू राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत, विधायक आदेश चौहान,कर्म सिंह पडडा,बलजिंदर सिंह, अमन सिंह, दलजीत सिंह, पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि प्रीतम सिंह, पूर्व विधायक डा. शैलेंद्र मोहन सिंघल, देवेंद्र सिंह, तरूण गहलोत, गजेंद्र सिंह, डॉ. यूनुस चौधरी, प्रेम सहोता, सुखवीर सिंह, सुरजीत ढिल्लो ने उनकी प्रतिमाओं पर माल्यार्पण किया। यहां गजेंद्र सिंह, देंवेद्र सिंह, अमन प्रीत सिंह, प्रताप सिंह, राहुल बंटी, राजेंद्र बिट्टू, सुखवीर भुल्लर, नवराज सिंह,दलविंदर सिंह, अमनदीप, सुखदीप, गुरमीत सिंह, गुरपेज सिंह,मुख्तार सिंह, चौ. किशन सिंह, हिमांशू, सर्वेश कुमार,अदित्य गहलोत आदि रहे।

किसानों की यह मांगे रहीं

किसानों ने प्रभारी तहसीलदार को ज्ञापन देकर जसपुर गन्ना आंदोलन के किसानों को शहीदों का दर्जा देने, परिजनों को पेंशन, गन्ने का समर्थन मूल्य 450 रुपये प्रति कुंतल करने, किसानों की सभी फसलें एमएसपी पर खरीदने, गारंटी कानून बनाने, क्रय केंद्रों पर किसानों से लूटपाट बंद करने, डीजल, पेट्रोल, रसोई गैस किसानों को छूट देने, खाद्य पदार्थों के मूल्य कम करने, किसानों का कर्जा माफ करने, खाद, कीटनाशक, ट्रैक्टर खेती में काम आने वाली मशीनरी पर किसानों को भारी छूट देने, बिजली कटौती बंद करने, किसानों को ट्यूबवेल का बिल माफ करने मांग की।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें