Friday, January 28, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तराखंड हरिद्वारमध्य प्रदेश में होगा योग आयोग का गठन: शिवराज

मध्य प्रदेश में होगा योग आयोग का गठन: शिवराज

हिन्दुस्तान टीम,हरिद्वारNewswrap
Thu, 02 Dec 2021 07:50 PM
मध्य प्रदेश में होगा योग आयोग का गठन: शिवराज

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा कि मोदी के नेतृत्व में वैभवशाली, गौरवशाली सम्पन्न भारत का निर्माण हो रहा है। उसके निर्माण के लिए हमारे योद्धा संन्यासियों ने योग, आयुर्वेद, शिक्षा व अध्यात्म के माध्यम से देश ही नहीं पूरे विश्व में क्रांति की है। ये बातें उन्होंने गुरुवार को पतंजलि योगपीठ में ‘वैश्विक चुनौतियों का सनातन समाधान-एकात्म बोध विषय पर आयोजित राष्ट्रीय संगोष्ठी में कहीं।

शिवराज ने 75 करोड़ सूर्य नमस्कार संकल्प कार्यक्रम की वेबसाइट का लोकार्पण भी किया। उन्होंने कहा कि आज हमने यहां 75 करोड़ सूर्य नमस्कार का वर्चुअली शुभारंभ किया है। मैं स्वयं यह महसूस करता हूं कि योग की शिक्षा व्यक्ति के मन, बुद्धि और आत्मा का विकास करेगी। ऐसे व्यक्तियों का निर्माण करेगी जो वास्तव में देशभक्त, चरित्रवान, ईमानदार, परोपकारी, दूसरों के लिए जीने वाले होंगे। योग की शिक्षा के लिए मध्य प्रदेश में अभियान चलाया जाएगा। हम योग आयोग का गठन भी करेंगे और पूरी दुनिया को दिशा और मार्गदर्शन देने वाले श्रेष्ठ संत और संन्यासियों के दिशा-निर्देशन में यह सारा कार्य होगा।

संगोष्ठी में बाबा रामदेव ने कहा कि यह गौरव का क्षण है कि आज आजादी के 75 वर्ष पूरे होने पर अमृत महोत्सव में 75 करोड़ सूर्य नमस्कार कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया है। यह कार्यक्रम अपने आप में एक बहुत बड़ा कीर्तिमान बनेगा। रामदेव ने कहा कि देश में योग शिक्षा को आंशिक रूप से लागू करने के लिए टुकड़ों में प्रयास हो रहे थे। लेकिन शिवराज ने योग को व्यापक रूप से शिक्षा का अंग बनाने के लिए बहुत बड़ी कार्य योजना की प्रतिबद्धता यहां से अभिव्यक्त की है।

आचार्य बालकृष्ण ने कहा कि मध्य प्रदेश सरकार शासन के साथ संस्कृति, परम्परा के संरक्षण पर भी एक उदाहरण के रूप में कार्य करती है। वैश्विक चुनौतियों का सनातन समाधान-एकात्म बोध विषय पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि आज जीवन में विभिन्न प्रकार की समस्याएं हैं। यदि हम सनातन परम्पराओं के आश्रय और जड़ को पकड़कर रखेंगे तो सभी समस्याओं का समाधान वहीं से मिलेगा।

इसके बाद शिवराज ने आचार्य बालकृष्ण के साथ गौ आधारित कृषि पर विस्तृत चर्चा की। कार्यक्रम में पतंजलि विश्वविद्यालय की कुलानुशासिका डॉ. साध्वी देवप्रिया, ऋतम्भरा, प्रति-कुलपति प्रो. महावीर, अंशुल, पारूल, केंद्रीय प्रभारी डॉ. जयदीप आर्य, राकेश आदि शामिल रहे।

epaper

संबंधित खबरें