DA Image
20 सितम्बर, 2020|11:31|IST

अगली स्टोरी

मंदिर तोड़ने पहुंची टीम को महिलाओं ने घेरा, नोकझोंक

मंदिर तोड़ने पहुंची टीम को महिलाओं ने घेरा, नोकझोंक

कोर्ट के आदेश पर कनखल जगजीतपुर क्षेत्र के राज विहार फेस-3 में शिव मंदिर तोड़ने पहुंची पुलिस और प्रशासन की टीम को महिलाओं के विरोध का सामना करना पड़ा। लोगों ने टीम को घेर लिया और मंदिर की पैमाइश नहीं करने दी। लोगों ने जनप्रतिनिधियों, शासन और प्रशासन के अधिकारियों के खिलाफ नारेबाजी की। पुलिस प्रशासन और स्थानीय लोगों के बीच मंदिर हटाने को लेकर नोकझोंक हुई। विधायक स्वामी यतीश्वरानंद ने मौके पर पहुंचकर लोगों को आश्वासन दिया कि शासन स्तर पर बातचीत कर इस मसले का हल निकाला जाएगा। इसके बाद लोगों का गुस्सा शांत हुआ।

सोमवार को जिलाधिकारी के आदेश पर तहसीलदार आशीष घिल्डियाल पुलिस टीम के साथ सरकारी भूमि से अतिक्रमण हटाने के लिए पहुंचे। टीम के पहुंचते ही अधिकारियों ने मंदिर के आसपास पैमाइश शुरू कर दी। नपाई शुरू होते देख आसपास के लोग एकत्रित हो गए। देखते ही देखते ही लोगों का हुजूम जमा हो गया। पुलिस टीम को भी मौके पर बुला लिया गया। महिलाओं ने मोर्चा संभाल लिया। मंदिर के बाहर महिलाएं बैठ गईं और प्रशासन की टीम को मंदिर के अंदर नहीं जाने दिया गया। तहसीलदार ने सख्ती दिखाई तो सुराज सेवा दल के प्रदेश अध्यक्ष रमेश जोशी अपनी टीम के साथ मौके पर आ गए। तहसीलदार और जोशी के बीच गहमागहमी हो गई। प्रशासन की टीम के साथ नोकझोंक शुरू हो गई। पुलिस को बीचबचाव कराना पड़ा।

स्थानीय लोगों ने सरकार और स्थानीय जनप्रतिनिधि के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। कुछ देर बाद विधायक स्वामी यतीश्वरानंद और मेयर प्रतिनिधि अशोक शर्मा मौके पर पहुंच गए। लोगों ने जनप्रतिनिधियों से शासन-प्रशासन तक बात पहुंचने की मांग कही। कुछ संत भी मौके पर आये। जिन्होंने भाजपा सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। लोगों का विरोध देखते हुए प्रशासन की टीम नपाई नहीं कर पाई। दोपहर तक लोग जमा रहे। कुछ देर बाद तहसीलदार निकल गए। इसके बाद लोगों की भीड़ कम हुई। उधर विधायक यतीश्वरानंद ने बताया कि जिलाधिकारी से इस संबंध में बातचीत हुई है। पांच दिन का समय दिया गया है। इस बीच मुख्यमंत्री से बातचीत कर इसका हल निकाला जाएगा। विरोध करने वालों में गड्डू चौधरी, हीरा सिंह बिष्ट, राजकुमार सिंह, रविंद्र राणा, विकास गर्ग, महिला सरिता, रानी, शकुंतला, नेहा, पूजा, ज्योति समेत अन्य क्षेत्र की महिलाएं शामिल रहीं।

शाम तक डटी रही पुलिस

पुलिस सुबह से लेकर शाम तक मौके पर डटी रही। एसओ प्रकाश पोखरियाल, जगजीतपुर चौकी प्रभारी राजेंद्र सिंह रावत समेत पुलिस फोर्स मौके पर रही।

तालाब की जमीन पर बना है मंदिर

इस मंदिर को मोहल्ले वालों ने ही मिलकर बनाया था। यहां कभी तालाब हुआ करता था। क्षेत्रवालों की मानें तो यह जमीन ग्राम सभा के नाम थी। लेकिन अब इस पर मंदिर बना हुआ है।

बिल्डर ने बेच दी जमीन

मंदिर के आसपास की जमीन को भी लोगों ने अवैध बताया है। हंगामा कर रहे लोगों का आरोप था कि मंदिर को ही हटाया जा रहा है, जबकि इस पूरी ग्राम समाज की जमीन को एक बिल्डर ने रजिस्ट्री कर बेच दिया है।

हिन्दू जागरण मंच ने किया विरोध

हरिद्वार। सोमवार को मंदिर तोड़ने पहुंची टीम का हिन्दू जागरण मंच के कार्यकर्ताओं ने विरोध किया। जगजीतपुर, बादशाहपुर गोवर्धनपुर जमालपुर खुर्द अनेक स्थानों पर हिंदू जागरण मंच कार्यकर्ताओं ने जमकर विरोध किया। हिंदू जागरण मंच के आह्वान पर फायर ब्रांड नेता साध्वी प्राची जगजीतपुर पहुंची और उन्होंने जिला प्रशासन को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि जिला प्रशासन सिर्फ और सिर्फ हिंदू मंदिर को तोड़ने का कार्य कर रहा है। वह निंदनीय है। जिलाध्यक्ष मनीष चौहान ने कहा कि जिला प्रशासन के इस रवैये से हिंदुओं में रोष है। जिला प्रशासन शीघ्र अपनी कार्रवाई वापस नहीं करता तो पूरे जिले में इनके खिलाफ उग्र आंदोलन होंगे। प्रदेश महामंत्री हीरा सिंह बिष्ट ने कहा की जिला प्रशासन एक पक्षीय कार्रवाई कर रहा है। विरोध करने वालों में नाथूराम सैनी, विजेंद्र चौधरी, राजीव, मोहन, रंजीत रावत, कमल शर्मा, अनुज चौधरी, स्वतंत्र सैनी आदि मौजूद रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Women surrounded the team reached to break the temple nozzle