DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हरिद्वार नगर निगम में 30 से बढ़कर 45 होंगे वार्ड

नगर निगम हरिद्वार में वार्डों की संख्या 30 से बढ़कर 45 होने जा रही है। शहरी विकास मंत्री ने आगामी नगर निकाय चुनाव से पहले निगमों में परिसीमन के संकेत दिये हैं। हरिद्वार नगर निगम के सीमा विस्तार की मांग भी उठ रही है। यदि ऐसा होता है वार्डों की संख्या 80 तक पहुंच जाएगी। वर्तमान में हरिद्वार निगम में 30 वार्ड हैं। अप्रैल 2018 में नगर निगमों के चुनाव होने हैं। राजनीतिक दलों से जुड़े लोग भी अंदरखाने चुनाव की तैयारियों में जुट गए हैं। चुनाव नजदीक आता देख नए क्षेत्रों को नगर निगम में जोड़ने की मांग उठने लगी है। इसी बीच शहरी विकास मंत्री ने संकेत दिये हैं, हरिद्वार नगर निगम के वार्डों का नए सिरे से परिसीमन होगा। परिसीमन के तहत 30 वार्डों को 45 वार्डों में बांटा जाएगा। इससे नगर निगम बोर्ड में जनप्रतिनिधियों की संख्या में इजाफा होगा।सीमा विस्तार की संभावनाओं पर भी विचारनगर निगम के विस्तार की चर्चायें भी जोरों पर हैं। मेयर मनोज गर्ग पहले ही नगर निगम के आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में भी नगर निगम में शामिल करने की मांग कर चुके हैं। सूत्रों के मुताबिक शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक भी हरिद्वार नगर निगम का विस्तार चाहते हैं, ताकि यह पांच लाख से अधिक आबादी वाले नगर निगमों में शामिल हो सके। पांच लाख से अधिक आबादी वाले नगर निगमों को केंद्र सरकार अच्छा खासा बजट विकास कार्यों के लिए उपलब्ध कराती है। हरिद्वार नगर निगम को भी इसका लाभ मिले, इसलिए सीमा विस्तार की संभावनाओं पर भी विचार किया जा रहा है। सीमा विस्तार की स्थिति में वार्डों की संख्या 80 तक पहुंचने की चर्चा है।........................................हरिद्वार नगर निगम में वार्डों की संख्या 30 से बढ़ाकर 45 करने की योजना है। इससे जनप्रतिनिधियों को क्षेत्रों में विकास कार्य कराने में काफी सहूलियत मिलेगी। सीमा विस्तार के लिए प्रस्ताव मिल रहे हैं। इसकी संभावनाओं पर भी विचार किया जा रहा है। लेकिन ऐसा सभी की सहमति से होगा। मदन कौशिक, शहरी विकास मंत्री

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Ward from 30 to 45 in Haridwar Municipal Corporation