DA Image
21 अक्तूबर, 2020|1:51|IST

अगली स्टोरी

बंद घरों में चोरी करने वाले तीन दोस्त गिरफ्तार

बंद घरों में चोरी करने वाले तीन दोस्त गिरफ्तार

ज्वालापुर पुलिस ने बंद घरों में चोरी के तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। तीनों आरोपी दोस्त हैं। आरोपियों के पास से करीब 1.60 लाख की नगदी और लाखों के जेवरात बरामद हुए हैं। बताया जा रहा है कि आरोपी आर्थिक तंगी के कारण घरों में चोरी किया करते थे। पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के आधार पर आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय ने मंगलवार को ज्वालापुर कोतवाली में खुलासा करते हुए बताया कि बीते 3 जून को सीतापुर ज्वालापुर में विशाल धीमान पुत्र बृजमोहन के घर से लाखों के जेवरात व नगदी चोरी हुई थी। जबकि 17 जून को वसीम पुत्र इरशाद के दक्ष एनक्लेव ज्वालापुर स्थित घर में चोरों ने धावा बोला। 20 जून को सीतापुर ज्वालापुर में शिव कुमार पुत्र प्रकाश के घर से तीन लाख की नगदी और 28 जून को विजय कुमार बंसल पुत्र मामचंद बंसल के खन्ना नगर स्थित घर से सोने की अंगूठी समेत अन्य जेवरात चोरी हुए थे।

लगातार बढ़ रही चोरियों को देखते हुए एसएसपी सेंथिल अवूदई कृष्णराज एस ने सीओ सिटी डॉ. पूर्णिमा गर्ग के निर्देशन में टीम का गठन किया। घटनास्थल के आसपास के सीसीटीवी फुटेज खंगालने के बाद पुलिस को खन्ना नगर में हुई चोरी के बाद तीन संदिग्ध युवक वीडियो में दिखाई दिए। तीनों युवकों की पुलिस ने तलाश शुरू कर दी। मंगलवार को मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने तीनों आरोपी अजय पुत्र प्रदीप, शिव कुमार पुत्र बुद्धू, राहुल पुत्र विनोद निवासीगण पीठबाजार ज्वालापुर हरिद्वार को राइस मिल ज्वालापुर तिराहा के पास से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने आरोपी अजय के घर दबिश देकर 1.60 लाख नगद और एक सोने की चेन, तीन सोने की अंगूठी, एक सोने की अंगूठी, सोने के टॉप्स समेत कई अन्य जेवरात बरामद किए हैं। नगदी और बरामद जेवरात की कीमत करीब पांच लाख रुपये बताई जा रही है।

पुलिस टीम को इनाम

पुलिस टीम में शामिल ज्वालापुर कोतवाली प्रभारी प्रवीण सिंह कोश्यारी, एसएसआई सुनील रावत, रेल चौकी प्रभारी लक्ष्मी प्रसाद, बाजार चौकी प्रभारी देवेंद्र सिंह रावत, दरोगा दीपक चौधरी, कांस्टेबल अमजद, हेमंत मनमोहन, निर्मल और सत्येंद्र के लिए एसएसपी ने 2500 रुपये इनाम की घोषणा की है।

आर्थिक तंगी के कारण कर रहे थे चोरी

एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय ने बताया कि तीनों आरोपियों का आपराधिक इतिहास की जानकारी जुटाई जा रही है। आरोपी पहले शराब बेचने के आरोप में जेल जा चुके हैं। आरोपियों ने बताया है कि पैसों की कमी के कारण वह लोग चोरी किया करते थे।

पिछले 4 महीने से कर रहे थे चोरी

लॉकडाउन शुरू होने के बाद से ही तीनों दोस्त चोरियों की घटनाओं को अंजाम दे रहे थे। इन चार बड़ी चोरियों के अलावा आरोपियों ने पहले छोटी-छोटी चोरियां करनी शुरू की। बाद में आरोपियों ने बड़ा हाथ मारा और लाखों की नकदी और जेवरात पर हाथ साफ कर दिया। आरोपी बंद पड़े घरों को ही निशाना बनाते थे।।

चोरी के बाद खेलते थे जुआ

आरोपी चोरी करने के बाद आपस में जुआ खेलते थे। बताया जा रहा है कि एक जुआरी ने ही तीनों आरोपियों को वीडियो से पहचाना था। जिसके बाद मामले का खुलासा हो सका।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Three friends arrested for stealing in closed houses