Live Hindustan आपको पुश नोटिफिकेशन भेजना शुरू करना चाहता है। कृपया, Allow करें।

आयुर्वेद के इतिहास में मील का पत्थर साबित होगा यह समझौता: आचार्य बालकृष्ण

- पतंजलि रिसर्च फाउंडेशन और एसआरएम सेंटर फॉर क्लिनिकल ट्रायल्स एंड रिसर्च चेन्नई के बीच एमओयू पर हस्ताक्षरआयुर्वेद के इतिहास में मील का पत्थर साबित...

offline
आयुर्वेद के इतिहास में मील का पत्थर साबित होगा यह समझौता: आचार्य बालकृष्ण
Newswrap हिन्दुस्तान टीम , हरिद्वार
Fri, 3 May 2024 4:15 PM

पतंजलि रिसर्च फाउंडेशन और एसआरएम सेंटर फॉर क्लिनिकल ट्रायल्स एंड रिसर्च (सीसीटीआर), चेन्नई के बीच शुक्रवार को आयुर्वेदिक औषधियों के लिए क्लीनिकल ट्रायल अध्ययन के लिए करार पर हस्ताक्षर किए गए। इस मौके पर पतंजलि योगपीठ के महामंत्री आचार्य बालकृष्ण ने कहा कि यह समझौता ज्ञापन आयुर्वेद के इतिहास में मील का पत्थर साबित होगा।
उन्होंने कहा कि यह संयुक्त प्रयास आयुर्वेद के पुनरुत्थान में अहम् भूमिका निभाएगा। कहा कि इससे आयुर्वेदिक औषधियों को क्लीनिकल ट्रायल्स के माध्यम से विश्वपटल पर लाने में मदद मिलेगी। दोनों संस्थान आयुर्वेदिक औषधियों की ऐफिकैसी को दुनिया के सामने प्रस्तुत करेंगे।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हमें फॉलो करें
ऐप पर पढ़ें
उत्तराखंड की अगली ख़बर पढ़ें
Haridwar News Haridwar Latest News Uttarakhand News Uttarakhand Latest News
होमफोटोवीडियोफटाफट खबरेंएजुकेशनट्रेंडिंग ख़बरें