DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तराखंड › हरिद्वार › शेर गली में लोगों के घरों में घुसा सीवर का पानी
हरिद्वार

शेर गली में लोगों के घरों में घुसा सीवर का पानी

हिन्दुस्तान टीम,हरिद्वारPublished By: Newswrap
Fri, 25 Jun 2021 10:50 PM
शेर गली में लोगों के घरों में घुसा सीवर का पानी

गंगा प्रदूषण नियंत्रण इकाई व गेल की लापरवाही से सीवर लाइन जाम होने से शेर गली और कोयला डिपो गली में सीवर उफन रहा है। सीवर का पानी लोगों के घरों में घुस गया है। एक सप्ताह से लिखित और मौखिक शिकायत करने के बाद भी सीवर लाइन की मरम्मत नहीं की गई। गुस्साए लोगों ने शुक्रवार को पार्षद अनिरूद्ध भाटी के नेतृत्व में वेद भारती घाट स्थित गंगा प्रदूषण निंयत्रण इकाई के क्षेत्रीय कार्यालय पर विभाग के एसडीओ राकेश चौहान तथा गेल के सुपरवाइजर सन्नी सिंह के समक्ष आक्रोश प्रकट कर खरी खोटी सुनाई। पार्षद ने संबंधित विभागों को 24 घंटे का समय देते हुए इसके बाद पुलिस में मुकदमा दर्ज कराने की चेतावनी दी है।

क्षेत्रीय पार्षद अनिरूद्ध भाटी ने कहा कि गंगा प्रदूषण निंयत्रण इकाई व गेल की लापरवाही का खामियाजा क्षेत्र की जनता को भुगतना पड़ रहा है। मुखिया गली की ब्रांच गली कोयला डिपो गली व शेर गली में गैस पाइप लाइन डालते हुए गेल (हरिद्वार नेचुरल गैस) के कर्मचारियों से एक सप्ताह पूर्व सीवर लाइन क्षतिग्रस्त हो गयी थी। जिसके संदर्भ में संबंधित अधिकारियों को जानकारी देकर समस्या के समाधान की मांग की जाती रही।

अधिकारियों से मि्लने वालों में नीरज शर्मा ने कहा कि कार्यदायी संस्थाओं में आपसी तालमेल न होने के चलते क्षेत्रवासियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। बारिश के समय सारी रात जागकर गली के लोग घर से सीवर का गंदा पानी बाहर निकालने को मजबूर होते हैं। इस दौरान मोहित प्रजापति, अमित गुप्ता, दिनेश शर्मा, सोनू पंडित, नरेश पाल, प्रकाश वीर, सूर्यकान्त शर्मा, सुनील सैनी, भारत नन्दा, डिम्पल सिंह कठैत, रोशनी, पूनम, कविता सकलानी, संगीता डिमरी, बंसती, संतोषी सकलानी, रमा चमोली, सीता देवी, इंदू देवी, एसडी चमोली, मदन सैनी, राजेन्द्र गुप्ता, रूपेश शर्मा, लक्ष्य शर्मा, अवी शर्मा, देवेन्द्र पाण्डेय, गुड्डी, पंकज जोशी आदि शामिल रहे। एसडीओ राकेश चौहान ने कहा कि हरिद्वार नेचुरल गैस के अधिकारियों से बातचीत हो गयी है। दोनों विभाग आज ही समन्वय बनाकर क्षतिग्रस्त सीवर लाईन की मरम्मत कर देंगे तथा क्षतिग्रस्त ढक्कनों का आंकलन कर नये ढक्कन लगवाये जायेंगे।

000

बाल्टियों से फेंक रहे गंदा पानी बाहर

शेर गली में विभागों की लापरवाही के चलते क्षेत्रवासी नारकीय जीवन जीने को मजबूर हैं। गली में मल-मूत्र बह रहा है। महिलाएं व बच्चे बल्टियों से घरों के अंदर से दूषित जल बाहर फैंक रहे है। ऐसे में क्षेत्र में सक्रामक बीमारियों का खतरा उत्पन्न हो गया है।

संबंधित खबरें