DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सिस्टम से तंग आकर इस शिक्षिका को स्कूल में ही अनशन पर बैठना पड़ा

स्थाई नियुक्ति की मांग को लेकर कनखल स्थित इंटर कालेज में एक शिक्षिका धरने पर बैठ गई हैं। शिक्षिका का आरोप है कि उसके विषय का गलत नाम शासन को भेजा गया था, जिसके चलते उसकी स्थाई नियुक्ति नहीं हो सकी।

धरने पर बैठी मीनाक्षी शर्मा ने बताया कि वह एक कालेज में कई वर्षों से पढ़ा रही हैं। शासन से जब पीटीए शिक्षकों को सात हजार रुपये मानदेय देने के लिए नाम मांगे तो उसके टीचिंग सब्जेक्ट का नाम गलत भेजा गया। वह अंग्रेजी पढ़ाती हैं जबकि उनके विषय का नाम सामाजिक विज्ञान भेजा गया। इसके चलते उन्हें मानदेय नहीं मिला। इसके बाद सरकार ने मानदेय 15 हजार रुपये कर दिया। बाकी शिक्षकों की उसी कालेज में एक साल पहले तदर्थ नियुक्ति दे दी गई। मीनाक्षी ने बताया कि पिछले कई सालों से विभागीय अधिकारियों के लगातार चक्कर काटकर वह थक चुकी हैं और अब धरना देकर न्याय की गुहार लगा रही हैं। शिक्षिका का कहना है कि वह गर्भवती है, इसके बावजूद उन्हें न्याय के लिए धरने पर बैठना पड़ रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:School teacher on agitation