DA Image
3 जुलाई, 2020|9:56|IST

अगली स्टोरी

कांवड़िए हरिद्वार आए तो होंगे क्वारंटाइन

कांवड़िए हरिद्वार आए तो होंगे क्वारंटाइन

1 / 3कांवड़ियों के हरिद्वार आगमन पर रोक के लिए जिला प्रशासन ने सख्त निर्णय लिया है। कांवड़ियों को राज्य सीमा पर ही फैसिलिटी क्वरंटाइन कर दिया जाएगा। यही नहीं फैसिलिटी क्वारंटाइन का पूरा खर्च भी कांवड़ियों से...

कांवड़िए हरिद्वार आए तो होंगे क्वारंटाइन

2 / 3कांवड़ियों के हरिद्वार आगमन पर रोक के लिए जिला प्रशासन ने सख्त निर्णय लिया है। कांवड़ियों को राज्य सीमा पर ही फैसिलिटी क्वरंटाइन कर दिया जाएगा। यही नहीं फैसिलिटी क्वारंटाइन का पूरा खर्च भी कांवड़ियों से...

कांवड़िए हरिद्वार आए तो होंगे क्वारंटाइन

3 / 3कांवड़ियों के हरिद्वार आगमन पर रोक के लिए जिला प्रशासन ने सख्त निर्णय लिया है। कांवड़ियों को राज्य सीमा पर ही फैसिलिटी क्वरंटाइन कर दिया जाएगा। यही नहीं फैसिलिटी क्वारंटाइन का पूरा खर्च भी कांवड़ियों से...

PreviousNext

कांवड़ियों के हरिद्वार आगमन पर रोक के लिए जिला प्रशासन ने सख्त निर्णय लिया है। कांवड़ियों को राज्य सीमा पर ही फैसिलिटी क्वरंटाइन कर दिया जाएगा। यही नहीं फैसिलिटी क्वारंटाइन का पूरा खर्च भी कांवड़ियों से वसूला जाएगा।

बुधवार को जिलाधिकारी सी. रविशंकर ने उत्तर प्रदेश और हरियाणा के सीमांत जिलों के शीर्ष अधिकारियों के साथ बैठक की। कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में जिलों के प्रशासनिक और पुलिस अधिकारियों ने मिलकर कांवड़ यात्रा पर रोक से संबंधित कार्रवाई की रणनीति तैयार की। बैठक में चर्चा के बाद निर्णय लिया गया की रोक के बावजूद जल लेने हरिद्वार आने वाले कांवड़ियों को राज्य सीमा पर ही रोक दिया जाएगा। कांवड़ियों को प्रशासन द्वारा चिह्नित होटलों और धर्मशालाओं में 14 दिनों तक निगरानी में रखा जाएगा। होटल और धर्मशाला में रहने और खाने का पूरा खर्च कांवड़ियों से लिया जाएगा। इसके अलावा हरिद्वार, उत्तरप्रदेश और हरियाणा में कांवड़ बनाने में प्रयोग होने वाले सामानों की बिक्री पूरी तरह से प्रतिबंधित होगी। सड़कों के किनारे कांवड़ सेवा शिविर लगाने वालों पर भी कार्रवाई की जाएगी।

जिलाधिकारी सी. रविशंकर ने कहा कि कोरोना संक्रमण के चलते कांवड़ यात्रा पर रोक लगाई गई है। कांवड़ यात्रा पर रोक को लेकर स्थानीय स्तर पर तीनों राज्यों के ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों जागरूक किया जाना जरूरी है। उन्होंने कांवड़ियों को रोकने के लिए तीनों राज्यों में निगरानी प्वाइंट बढ़ाने की जरूरत पर जोर दिया। बिजनौर, मुजफ्फरनगर, सहारनपुर, यमुनागर और करनाल जिले के प्रशासनिक और पुलिस अधिकारियों ने बताया कि अखबार, स्वयंसेवी संस्थाओं, होर्डिंग, बैनर और स्थानीय जनप्रतिनिधियों के माध्यम से लोगों को जागरूक किया जा रहा है। बताया कि थानों और चौकियों में प्रतिबंध को लेकर जिम्मेदार लोगों के साथ बैठक भी की जा रही है।

ग्रामीण डाकघरों में गंगाजल उलब्ध कराने के निर्देश

जिलाधिकारी सी. रविशंकर ने वरिष्ठ डाक अधीक्षक देहरादून अनसूया प्रसाद चमोला को तीनों राज्यों के शहरी और विशेष तौर पर ग्रामीण डाकघरों में पर्याप्त मात्रा में गंगाजल उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। वरिष्ठ डाक अधीक्षक ने बताया कि बारिश के दौरान उत्तरकाशी का प्लांट बंद कर दिया जाता है। ऐसे में अगर हरिद्वार से गंगाजल उपलब्ध हो जाए तो आपूर्ति में कोई समस्या नहीं आएगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Quarantine will be done if Kandia comes to Haridwar