Pulling continues in Chinmaya degree college - चिन्मय डिग्री कॉलेज में खींचतान जारी DA Image
13 दिसंबर, 2019|3:12|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चिन्मय डिग्री कॉलेज में खींचतान जारी

default image

चिन्मय डिग्री कॉलेज में स्थाई और अस्थाई स्टाफ के बीच चल रहा विवाद लगातार गहराता जा रहा है। मंगलवार को कॉलेज के चेयरमैन ने जहां एक अस्थाई प्रोफेसर को अपनी तरफ से मीडिया प्रभारी नियुक्त कर दिया वहीं कॉलेज के प्राचार्य ने नियुक्ति से साफ इनकार कर आदेश को फर्जी करार दे दिया। चिन्मय डिग्री कॉलेज में स्थाई और अस्थाई स्टाफ के बीच स्ववित्तपोषित कक्षाओं के वेतन को लेकर चल रहा बवाल सुलझने के बजाए दिनोंदिन उलझता नजर आ रहा है। मंगलवार को अस्थाई शिक्षकों की पैरवी करने वाले कॉलेज के चेयरमैन राकेश सचदेवा ने कॉलेज की अस्थाई प्रोफेसर डा. संध्या वैद्य को औपचारिक तौर पर कॉलेज का मीडिया प्रभारी बनाते हुए एक पत्र जारी कर दिया। जिसमें डा. संध्या को मीडिया को बयान देने के लिए अधिकृत कर दिया गया। वहीं कॉलेज के प्राचार्य डा. आलोक कुमार ने इस नियुक्ति को ही फर्जी करार दिया। उन्होंने कहा कि कॉलेज का प्रवक्ता या मीडिया प्रभारी कॉलेज का स्थाई स्टाफ ही बन सकता है और इसे बनाने का अधिकार भी सिर्फ कॉलेज के प्राचार्य को है। कहा कि चेयरमैन कोई स्थाई पद नहीं है इसलिए वह कोई मीडिया प्रभारी नहीं बना सकते। जिस तरह एक महिला को मीडिया प्रभारी की जिम्मेदारी दी गई है वह कानूनन गलत है और हम इसे मानने के लिए बाध्य नहीं हैं। 000क्या आज मान जाएंगे नाराज प्रोफेसरकॉलेज के स्थाई स्टाफ ने बकाया भुगतान नहीं मिलने पर 14 नवंबर से सेल्फ फाइनेंस कक्षाएं नहीं लेने की घोषणा की है। यदि बुधवार तक स्थाई और अस्थाई शिक्षकों के बीच का विवाद नहीं निपटता तो गुरुवार से कॉलेज में सेल्फ फाइनेंस कक्षाओं को पढ़ाने के लिए शिक्षकों की कमी पड़ जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Pulling continues in Chinmaya degree college