DA Image
27 अक्तूबर, 2020|12:08|IST

अगली स्टोरी

शिक्षकों की पदोन्नति सूची की जांच होगी

default image

हरिद्वार में सहायक अध्यापक और हेड मास्टरों की पदोन्नति सूची की जांच तीन सदस्यीय उच्चस्तरीय कमेटी करेगी। बुधवार को निदेशक प्रारंभिक शिक्षा का आदेश मुख्य शिक्षा अधिकारी कार्यालय रोशनाबाद को मिल गया है। जांच रिपोर्ट को दो सप्ताह के अंदर पूरा करके निदेशक को भेजा जाना है।

आपके प्रिय अखबार ‘हिन्दुतान ने 7 अगस्त को हरिद्वार में हेडमास्टर पदोन्नति सूची विवादों में खबर को प्रमुखता के साथ प्रकाशित किया था। मामले का संज्ञान लेते हुए निदेशक प्रारंभिक शिक्षा ने जांच के आदेश जारी कर दिये हैं। बुधवार को मुख्य शिक्षा अधिकारी कार्यालय में जांच आदेश पहुंच गया है। प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों में 124 शिक्षक-शिक्षिकाओं की पहली सूची जारी होने के बाद सीईओ कार्यालय में आपत्तियों का अंबार लग गया था। शिक्षकों के अनुसार पदोन्नति सूची में कई खामियां थीं। आपत्तिकर्ताओं का आरोप था कि आरटीई एक्ट 2009 के अनुसार छात्र शिक्षक अनुपात का पालन भी नहीं किया गया था। यह भी आरोप था कि दुर्गम और सुगम श्रेणी को ताक पर रखकर पदोन्नति सूची जारी कर दी गई थी।

मुख्य शिक्षा अधिकारी डॉ. आनंद भारद्वाज ने बताया कि 4 अगस्त को 124 शिक्षक-शिक्षिकाओं की पदोन्नति सूची जारी की गई थी। शिक्षकों ने मुख्यमंत्री, निदेशक और कोर्ट में भी शिकायत की थी। निदेशक स्तर से मामले में जांच रिपोर्ट मांगी गई है।

ये हैं जांच समिति में शामिल

जांच समिति में अपर निदेशक प्रारंभिक शिक्षा गढ़वाल मंडल पौड़ी, मुख्य शिक्षा अधिकारी हरिद्वार और खंड शिक्षा अधिकारी हरिद्वार को शामिल किया गया है।

निलंबन अवधि में हुए सेवानिवृत्त

पदोन्नति सूची समेत अन्य मामलों में शासन ने जिला शिक्षा अधिकारी ब्रह्मपाल सैनी को निलंबित कर मुख्यालय से अटैच कर दिया था। बुधवार को निलंबन अवधि में ही ब्रह्मपाल सैनी सेवानिवृत्त भी हो गए।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Promotion list of teachers will be checked