Patanjali Yogpeeth from Devprayag 10th class topper - देवप्रयाग से 10वीं कक्षा के टॉपर विद्यार्थियों का दल पहुंचा पतंजलि योगपीठ DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

देवप्रयाग से 10वीं कक्षा के टॉपर विद्यार्थियों का दल पहुंचा पतंजलि योगपीठ

default image

देवप्रयाग से 10वीं में टॉप करने वाले निर्धन विद्यार्थियों का एक दल स्थानीय विधायक विनोद कंडारी के नेतृत्व में पतंजलि योगपीठ पहुंचा। पतंजलि योगपीठ पहुंचकर उन्होंने आचार्य बालकृष्ण से आशीर्वाद प्राप्त किया। इस अवसर पर आचार्य बालकृष्ण ने कहा कि ज्ञान अर्जन के लिए धन, वैभव या सुविधाएं नहीं अपितु ज्ञान प्राप्ति की प्रबल इच्छा तथा अखंड पुरुषार्थ ही एकमात्र कुंजी है। आचार्य बालकृष्ण ने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में पतंजलि अग्रणी प्रयास कर रहा है। पतंजलि ने मैकाले की दोषपूर्ण शिक्षा प्रणाली को समाप्त कर भारतीय वैदिक शिक्षा के विस्तार हेतु अग्रणी कार्य किया है। जहां एक ओर शिक्षा को व्यापार बनाकर देश की जनता को लूटा जा रहा है, वहां पतंजलि ने आधुनिक उच्च शिक्षा के साथ-साथ भारतीय वैदिक परम्परा व ऋषियों के ज्ञान को भी सुलभ कराया है। पतंजलि बाल गुरुकुलम्, पतंजलि गुरुकुलम्, पतंजलि वैदिक गुरुकुलम्, पतंजलि कन्या गुरुकुलम्, पतंजलि सेवाश्रम, पतंजलि विश्वविद्यालय, आचार्यकुलम् तथा पतंजलि भारतीय आयुर्विज्ञान एवं अनुसंधान संस्थान इसके प्रत्यक्ष उदाहरण हैं। इस मौके पर विधायक विनोद कंडारी ने कहा कि पतंजलि की सेवापरक गतिविधियों का लाभ आज देश ही नहीं पूरा विश्व ले रहा है। उन्होंने कहा कि देवप्रयाग के मूल्याग्राम में पतंजलि द्वारा स्थापित पतंजलि सेवाश्रम का लाभ कैदारनाथ आपदा पीड़ित सैकड़ों अनाथ बच्चों को मिल रहा है। पतंजलि सेवाश्रम ने आपदा पीड़ित बच्चों को गोद लेकर उनके जीवन को तबाह-बर्बाद होने से बचाया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Patanjali Yogpeeth from Devprayag 10th class topper