DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पतंजलि ने योग-आयुर्वेद को विदेशों तक विस्तार दिया : बालकृष्ण

पतंजलि ने योग-आयुर्वेद को विदेशों तक विस्तार दिया : बालकृष्ण

पतंजलि रिसर्च फाउंडेशन के तत्वावधान में पतंजलि योगपीठ स्थित आयुर्वेद भवन में योगा फॉर हेल्थ एंड थैरेपी विषय पर तीन दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन का रविवार को समापन हुआ। तीन दिनों तक चले सम्मेलन में देश-विदेश के योग विशेषज्ञों ने अपने व्याख्यान प्रस्तुत किए।इस अवसर पर आचार्य बालकृष्ण ने कहा कि योग और आयुर्वेद हमारे ऋषियों द्वारा प्रदत्त सहज, वैज्ञानिक, समग्र और दुष्प्रभाव रहित आयुर्विज्ञान है। इसलिए हम योग और आयुर्वेद को देश की मुख्य चिकित्सा पद्धति में शामिल करने के लिये संकल्पित हैं। उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में पतंजलि योगपीठ समाज और विश्व के सम्मुख योग व आयुर्वेद की अपार संभावनाओं को वैज्ञानिक प्रमाणों सहित प्रस्तुत कर रहा है। उन्होंने कहा कि पतंजलि ने योग व आयुर्वेद को देश को सीमाओं से बाहर विदेशों तक विस्तार दिया है तथा पूरे विश्व ने मुक्तकंठ से पतंजलि योगपीठ के इस प्रयास को सराहा है।पतंजलि रिसर्च फाउंडेशन की डायरेक्टर डॉ शरली टेल्लस ने भी विचार रखे। इंस्टीट्यूट ऑफ एप्लाइड डर्मिटोलॉजीए केरल के निदेशक एसआर नरहरि, नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ मेंटल हेल्थ एण्ड न्यूरो. साइंस, बंगलूरू के प्रो. शिवरम वरमबल्ली, नेशनल स्पोट्स यूनिवर्सिटी, इम्फाल, मणिपुर के डीन डॉ. जयश्री आचार्य आदि ने वक्तव्य प्रस्तुत किए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Patanjali extended yoga-Ayurveda to foreign countries balkrishan