DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ट्रैवल एजेंसी के एजेंट की हत्या में नहीं मिला सुराग

रायपुर के ट्रैवल्स एजेंट की ज्वालापुर में हुई हत्या के मामले में पुलिस को कोई सुराग नहीं मिल पा रहा है। पुलिस जांच में सामने आया है कि एजेंट ने अंतिम बार मध्यप्रदेश में बात की थी। हत्या के बाद से मध्यप्रदेश का नंबर भी बंद आ रहा है।

आठ मई को ज्वालापुर कोतवाली क्षेत्र के नया गांव में एक अज्ञात युवक का शव मिला था। 18 मई को मृतक युवक की शिनाख्त उसकी मां लक्ष्मी देवी ने विरेंद्र सागौंई (27) पुत्र उदय सिंह निवासी नत्थूवाला रायपुर देहरादून के रूप की थी। परिजनों ने बताया कि विरेंद्र देहरादून और ऋषिकेश की ट्रैवल्स एजेंसी के लिए काम करता था। पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज करते हुए जांच शुरू की थी। बीते दिनों ही पुलिस ने हरिद्वार निवासी विरेंद्र के एक दोस्त से पूछताछ की थी, लेकिन कुछ खास सुबूत नहीं मिला था। मोबाइल कॉल डिटेल आने के बाद पुलिस को पता चला है कि विरेंद्र की अंतिम बार मध्य प्रदेश में बात हुई थी। वह लगातार इस नंबर पर बात करता था। हत्या के बाद से यह नंबर बंद आ रहा है। पुलिस मानकर चल रही है कि रंजिश के चलते हत्या की गई है। हालांकि परिवार वाले रंजिश की बात से इनकार कर रहे हैं। कोतवाली प्रभारी अमरजीत सिंह ने बताया कि मोबाइल कॉल डिटेल से जानकारी जुटाई जा रही है। जल्द ही मामले का खुलासा किया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:no clue in murder of travel agent