DA Image
30 नवंबर, 2020|4:37|IST

अगली स्टोरी

अपनी ही सरकार के वरिष्ठ मंत्री की जांच चाहते है विधायक यतीश्वरानंद VIDEO

अपनी ही सरकार के वरिष्ठ मंत्री की जांच चाहते है विधायक यतीश्वरानंद.........संसोधित

हरिद्वार ग्रामीण सीट से भाजपा विधायक स्वामी यतीश्वरानंद का कहना है कि उन्होंने जितने भी आरोप वरिष्ठ मंत्री पर लगाए हैं, जांच में अगर में गलत साबित हुए तो वे हाथ जोड़कर उनसे माफी मांग लेंगे। शुक्रवार को प्रेस क्लब में पत्रकारों से बातचीत में भाजपा विधायक ने कहा कि वह पूरा मामला मुख्यमंत्री त्रिवेद्र सिंह रावत के संज्ञान में लाएंगे। स्वामी यतीश्वरानंद ने कहा कि उन्होंने जो भी आरोप वरिष्ठ मंत्री पर लगाए हैं उसकी सीबीआई और एसआईटी जांच हो तो सब कुछ सामने आ जाएगा। बीते गुरुवार को गुरुकुल महाविद्यालय ज्वालापुर को लेकर विवाद के बाद विधायक यतीश्वरानंद खासे मुखर हो गए हैं। पहले दबी जुबान में वरिष्ठ मंत्री मदन कौशिक का विरोध करने वाले यतीश्वरानंद ने बीते गुरुवार से उनके खिलाफ खुलेआम मोर्चा खोल रखा है। हालांकि वर्ष 2018 में भी विधायक ने बिना नाम लिए मंत्री पर निशाना साधा था। लेकिन इस बार वो नाम लेकर मंत्री के खिलाफ खड़े हो गए हैं।बता दें कि यह विवाद गुरुकुल महाविद्यालय की अंतरंग कमेटी में मंत्री को शामिल करने को लेकर हुआ था।

विधायक यतीश्वरानंद ने अंतरंग की बैठक में ही हंगामा कर दिया था और मंत्री को इस संस्था से दूर रखने की मांग की थी। हालांकि मंत्री ने कभी भी इस संस्था में जुड़ने या फिर पद के लिए न तो कोई बयान दिया और न ही किसी को कुछ कहा। एक पक्ष ने मंत्री से संस्था में जुड़ने का आग्रह किया था। उसी के बाद संस्था में मंत्री को जोड़ा गया। जो विधायक यतीश्वरानंद नहीं चाहते थे। शुक्रवार को स्वामी ने सरकार से गुरुकुल महाविद्यालय में मंत्री के हस्तक्षेप और अंतरंग सभा की सूची की सीबीआई या एसआईटी जांच कराने की मांग की है। कहा कि किसी रिटायर जज से भी जांच कराई जा सकती है। विधायक ने मंत्री पर धंधेबाजों को संरक्षण देने के साथ ही जमीन की खरीद-फरोख्त में लिप्त होने का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा कि गुरुवार को दिए अपने बयान पर वे आज भी कायम हैं। अभी दे सकता हूं इस्तीफापत्रकारों से बातचीत में विधायक इतने आवेश में आ गए कि उन्होंने संस्था में महामंत्री पद से इस्तीफा देने की बात तक कर दी। उन्होंने कहा कि वो इस संस्था को बचाना चाहते हैं। इसलिए लड़ाई लड़ रहे हैं। कहा कि मैं अभी इस्तीफा दे सकता हूं, लेकिन कोई ऐसा व्यक्ति आए जो मंत्री से इस संस्था को बचा सके। इस दौरान मौजूद संतों ने उनके इस्तीफे को अस्वीकार करने की बात भी कही।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:MLA Yatishwaranand wants investigation of senior minister of his own government