DA Image
5 मार्च, 2021|6:57|IST

अगली स्टोरी

राम के चरित्र को अपने अंदर उतारना जरूरी

default image

गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय में मर्यादा पुरुषोत्तम राम के मंदिर शिलान्यास पर यज्ञ का आयोजन किया गया। कुलपति प्रो. रूपकिशोर शास्त्री ने कहा कि मर्यादा पुरुषोत्तम राम के चरित्र को अपने अन्दर उतारना बहुत जरूरी है। आज भारत का प्रत्येक नागरिक पुरुषोत्तम राम के प्रति अपना आभार व्यक्त कर रहा है और देश में जश्न का माहौल है। कुलसचिव प्रो. दिनेश चन्द्र भट्ट ने कहा कि राम का व्यक्तित्व सगुण और निर्गुण दोनों रूपों में देखा जा सकता है। राम के चरित्र को लेकर आज अयोध्या में राम मन्दिर का निर्माण किया जा रहा है। यह सनातन और हिन्दुत्व को जगाने वाली एक नई धारा का प्रवाह शुरू हो चुका है। देश में राम राज्य लौटने वाला है।परीक्षा नियंत्रक प्रो. एमआर वर्मा व प्रो. प्रभात सेंगर ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री ने एक नया इतिहास रच दिया है। उनके कार्यो को इतिहास के पन्नों में दर्ज किया जाएगा। इस दौरान प्रो. प्रभात कुमार, डॉ. दीनदयाल समेत स्टाफगण शामिल रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:It is necessary to bring Ram 39 s character inside