Indian culture is the mother of all cultures Satpal Maharaj - भारतीय संस्कृति सभी संस्कृतियों की जननी :सतपाल महाराज DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारतीय संस्कृति सभी संस्कृतियों की जननी :सतपाल महाराज

भारतीय संस्कृति सभी संस्कृतियों की जननी :सतपाल महाराज

1 / 2उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री और आध्यात्म गुरु सतपाल महाराज ने कहा कि भारतीय संस्कृति विश्व की सभी संस्कृतियों की जननी है, जिसमें सभी धर्मों और संप्रदाय के लोगों को आत्मसात करने की क्षमता...

भारतीय संस्कृति सभी संस्कृतियों की जननी :सतपाल महाराज

2 / 2उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री और आध्यात्म गुरु सतपाल महाराज ने कहा कि भारतीय संस्कृति विश्व की सभी संस्कृतियों की जननी है, जिसमें सभी धर्मों और संप्रदाय के लोगों को आत्मसात करने की क्षमता...

PreviousNext

उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री और आध्यात्म गुरु सतपाल महाराज ने कहा कि भारतीय संस्कृति विश्व की सभी संस्कृतियों की जननी है, जिसमें सभी धर्मों और संप्रदाय के लोगों को आत्मसात करने की क्षमता है। भारतीय संस्कृति और आध्यात्मिक सम्पदा के कारण ही विश्व के देश सदैव भारत के प्रति आकर्षित रहे हैं। यह बात उन्होंने रविवार को मानव उत्थान सेवा समिति द्वारा ऋषिकुल मैदान में चल रहे सद्भावना सम्मेलन के समापन अवसर पर कही।

उन्होंने कहा कि हमारे देश में विविध भाषाओं, परंपराओं को बोलने, मानने वाले और अनेक धर्म सम्प्रदायों के लोग रहते हैं। यह केवल आध्यात्म और सद्भावना की शक्ति ही है जो कश्मीर से कन्याकुमारी तथा कच्छ से कामाख्या तक फैले इस महान देश को प्रेम और एकता के सूत्र में बांधे हुए है। उन्होंने कहा कि हिंसा, आतंकवाद तथा वैमनष्यता जैसी बुराइयां जहां राष्ट्र को कमजोर करने की कोशिश करती हैं वहीं सामाजिक सौहार्द्र तथा सद्भावना राष्ट्र को मजबूत करती हैं|

इस अवसर पर संस्था द्वारा पूरे शहर के विभिन्न मार्गों पर स्वच्छता अभियान चलाया गया और स्वच्छता के प्रति लोगों को जागरूक भी किया गया| जिसमें शामिल सैकड़ों पुरुष, महिलाओं एवं बच्चों ने शहर के साथ-साथ देश को स्वच्छ बनाने का संकल्प लिया। देश-विदेश से आये श्रद्धालुओं सहित अनेक गणमान्य लोग भी उपस्थित रहे। मंच संचालन हरिसंतोषनन्द ने किया।

वर्ल्ड रिकार्ड का प्रशस्ति पत्र सौंपा

सद्भावना सम्मेलन के अवसर पर गिनीज वर्ल्ड रिकार्ड के कंसल्टेंट अश्वनी भाई सुदानी ने मिशन एजुकेशन के इस सराहनीय कार्य के लिए मिशन एजुकेशन के मार्गदर्शक श्री विभु जी को गिनीज वर्ल्ड रिकार्ड का प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। सतपाल महाराज के पुत्र विभु के निर्देशन में वर्ष-2014 से मिशन एजुकेशन का शुभारंभ किया गया। 3 दिसंबर 2018 को संस्था द्वारा गुजरात के सूरत शहर में चौबीस घंटे के अन्दर 16404 किलो पाठ्य-सामग्री गरीब एवं जरूरतमंद बच्चों में वितरित कर गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Indian culture is the mother of all cultures Satpal Maharaj