DA Image
25 अक्तूबर, 2020|10:15|IST

अगली स्टोरी

दुष्कर्म के प्रयास में युवक को सात वर्ष की कैद

default image

16 वर्षीय पीड़िता से घर में घुसकर दुष्कर्म का प्रयास करने और मारपीट करने के मामले में विशेष जज पॉक्सो कोर्ट अर्चना सागर ने युवक को दोषी करार दिया है। पॉक्सो कोर्ट ने दोषी युवक को सात वर्ष की कठोर कैद और 21 हजार रुपये के अर्थदंड की सजा सुनाई है।

शासकीय अधिवक्ता आदेश कुमार चौहान ने बताया कि 26 मई 2017 को बहादराबाद क्षेत्र के गांव में आरोपी युवक ने सोलह वर्षीय पीड़िता को धमकी देकर दुष्कर्म का प्रयास किया था। पीड़िता के छोटे भाई को घर पर देखकर वह भाग गया था। पीड़ित के माता पिता काम से बाहर गए हुए थे। शाम को पीड़िता ने घर लौटे परिजनों को आपबीती बताई। यही नहीं, शिकायत करने पर आरोपी ने पीड़िता और उसकी मां को उनके घर पर आकर मारपीट कर चोट पहुचाई थी। पीड़िता की मां ने पुलिस में आरोपी कासिम पुत्र जाहिद निवासी ग्राम बढ़ेड़ी राजपुतान के खिलाफ दुष्कर्म का प्रयास करने, मारपीट और पॉक्सो के तहत केस दर्ज कराया था। मामले में कार्रवाई करते हुए पुलिस ने युवक कासिम को जेल भेज दिया था। पुलिस ने केस की विवेचना कर आरोपी के खिलाफ कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की थी। पॉक्सो कोर्ट ने युवक पर दुष्कर्म का प्रयास, मारपीट व पॉक्सो एक्ट का आरोप तय किए थे। सरकारी पक्ष की ओर से नौ गवाह पेश किए। पॉक्सो कोर्ट ने सरकारी अधिवक्ता और बचाव पक्ष के अधिवक्ता की ओर से प्रस्तुत साक्ष्य और दलीलें सुनने के बाद दोषी कासिम को उक्त सजा सुनाई है।

पीड़ित लड़की को आर्थिक सहायता

विशेष जज पॉक्सो कोर्ट ने पीड़ित लड़की को जिला विधिक सेवा सहायता की ओर से प्रतिकर राशि के के रूप में निर्भया फण्ड से आर्थिक सहायता उपलब्ध कराने के निर्देश जारी किए हैं।