DA Image
15 अगस्त, 2020|4:59|IST

अगली स्टोरी

स्वास्थ्यर्मियों ने लाल झंडे फहराकर जताया विरोध

स्वास्थ्यर्मियों ने लाल झंडे फहराकर जताया विरोध

1 / 2महंगाई भत्ते पर रोक के बाद स्वास्थकर्मियों में लगातार विरोध बढ़ता जा रहा है। शुक्रवार को चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों ने अपने घरों की छतों पर लाल झंडे फहराकर अपनी नाराजगी...

स्वास्थ्यर्मियों ने लाल झंडे फहराकर जताया विरोध

2 / 2महंगाई भत्ते पर रोक के बाद स्वास्थकर्मियों में लगातार विरोध बढ़ता जा रहा है। शुक्रवार को चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों ने अपने घरों की छतों पर लाल झंडे फहराकर अपनी नाराजगी...

PreviousNext

डीए फ्रीज करने से स्वास्थ्यकर्मियों में उबाल

लॉकडाउन के बाद आंदोलन की चेतावनी

महंगाई भत्ते पर रोक के बाद स्वास्थकर्मियों में लगातार विरोध बढ़ता जा रहा है। शुक्रवार को चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों ने अपने घरों की छतों पर लाल झंडे फहराकर अपनी नाराजगी जताई। कर्मचारियों ने कहा कि यदि सरकार ने महंगाई भत्ते में राहत नहीं दी तो लॉकडाउन के बाद बड़ा आंदोलन किया जाएगा।

मजदूर दिवस पर चतुर्थ श्रेणी स्वास्थ्यकर्मियों ने अनोखे ढंग से विरोध प्रदर्शन किया। स्वास्थ्यकर्मी मुख्यमंत्री से अतिआवश्यक सेवाओं से जुड़े कर्मचारियों को महंगाई भत्ते पर रोक के आदेश से बाहर करने की मांग कर रहे है। शुक्रवार को चतुर्थ श्रेणी राज्य कर्मचारी संघ (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य) के आह्वान पर स्वास्थ्यकर्मियों ने लाल झंडे फहराकर अपना रोष व्यक्त किया। चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी संगठन के प्रदेश महामंत्री दिनेश लखेड़ा ने बताया कि स्वास्थ्यकर्मी संक्रमण के खतरे के बावजूद पूरी ईमानदारी के साथ मरीजों की सेवा कर रहे हैं। कर्मचारियों को ड्यूटी का समय पूरा होने बाद भी किसी भी जरूरत पड़ने पर बुलाया जा रहा है। सभी अवकाश रद्द कर दिए गए हैं। इसके बाद भी स्वास्थ्यकर्मी काम में जुटे हैं। लेकिन जब महंगाई भत्ते पर रोक का आदेश आया तो स्वास्थ्यकर्मी को रियायत नहीं दी गई। उन्होंने कहा कि सरकार के गलत रवैए के खिलाफ ही कर्मचारियों ने लाल झंडे फहराए। संघ के प्रदेश अध्यक्ष मनवर सिंह नेगी ने बताया कि एक साल तक महंगाई भत्ते फ्रीज होने से वेतनभोगी और जल्द सेवानिवृत्त होने वाले कर्मचारियों को नुकसान उठाना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि अगर सरकार ने स्वास्थ्यकर्मियों को राहत नहीं दी तो लॉकडाउन के बाद आंदोलन किया जाएगा। संयुक्त मंत्री शिवनारायण सिंह, राजेंद्र तेश्वर, राकेश भंवर, सोमप्रकाश, परीक्षा देवी, सोम प्रकाश, राजेंद्र तेश्वर, महेश कुमार, अजय रानी, रजनी, रेखा, पूजा, आशीष, जीत सिंह, संजय, दीक्षा, अर्पित, अमन, सन्नी, अरुण समेत कर्मचारी और उनके परिवारों ने छतों पर झंडे फहराए।

:::::::::::::

रुड़की में भी कर्मचारियों ने फहराए झंडे

चतुर्थ श्रेणी राज्य कर्मचारी संघ के आयुर्वेदिक और यूनानी इकाई के रुड़की, लक्सर और भगवानपुर में छतों में भी लाल झंडे फहराए। इनमें जीत सिंह, विजेंद्र पाल, मुनिराम आदि शामिल रहे।

::::::::::::

राजस्व संग्रह परिचारक संघ ने किया समर्थन

कोविड-19 ड्यूटी पर तैनात राजस्व संग्रह परिचारक कर्मचारी संघ के प्रदेश महामंत्री भजन सिंह चौहान ने बताया कि सदस्यों ने भी लाल झंडे फहराकर स्वास्थ्यकर्मियों का समर्थन किया।

::::::::::::::::

बीईएचएल के शहीदों को दी श्रद्धांजलि

मजूदर दिवस बीईएचएल की एटक यूनियन (हीप एवं सीएफएफपी) ने शिकागो और बीईएचएल के शहीदों को याद किया। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए यूनियन कार्यालय में शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की गई। लॉकडाउन के चलते केवल एटक (हीप) के अध्यक्ष मनमोहन कुमार, महामंत्री संदीप चौधरी एटक (सीएफएफपी) के कार्यवाहक अध्यक्ष आई.डी. पंत और महामंत्री सौरभ त्यागी ने सभी श्रमिकों का प्रतिनिधित्व किया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Health workers protested by hoisting red flags