Health workers performed with black bars - स्वास्थ्य कर्मचारियों ने काली पट्टी बांधकर किया प्रदर्शन DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्वास्थ्य कर्मचारियों ने काली पट्टी बांधकर किया प्रदर्शन

स्वास्थ्य कर्मचारियों ने काली पट्टी बांधकर किया प्रदर्शन

चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण कर्मचारी महासंघ से जुड़े कर्मचारियों ने सिविल अस्पताल रुड़की के सीएमएस और वरिष्ठ एनेस्थेटिस्ट के तबादले की मांग को लेकर काली पट्टी बांधकर प्रदर्शन किया।

कर्मचारियों का आरोप हैं कि सीएमएस और वरिष्ठ एनेस्थेटिस्ट ने महासंघ के अध्यक्ष नीरज गुप्ता के साथ वार्ता के दौरान दुर्व्यवहार किया। कर्मचरियों ने दोनों अधिकारियों पर धमकी देने का आरोप भी लगाया है। कहा कि अगर चिकित्सकों का तबादला नहीं होता तो कर्मचारियों का चरणबद्ध आंदोलन जारी रहेगा। रविवार को मेला अस्पताल में आयोजित सभा में चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवर कल्याण महासंघ के जिलाध्यक्ष ने कहा कि कर्मचारियों का उत्पीड़न किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। सिविल अस्पताल के सीएमएस डॉ. डीके चक्रपाणी और वरिष्ठ एनेस्थेटिस्ट डॉ. संजय कंसल के तबादले की मांग लेकर आंदोलन शुरू कर दिया है। दोनों चिकित्सकों के स्थानांतरण होने तक आंदोलन जारी रहेगा। चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी संघ के जिलाध्यक्ष शिवनारायण सिंह एवं डेंटल हाईजेनिस्ट एसोसिएशन के नेता शहनवाज ने कहा कि कर्मचारी एक सूत्रीय मांग पूरी होने तक आंदोलन जारी रखेंगे। उत्तरांचल मेडिकल एण्ड पब्लिक हेल्थ मिनिस्ट्रीयल एसोसिएशन के जिला मंत्री बीएस राणा और एक्सरे ट्रेक्नीशियन एसोसिएशन के नेता ओम शिव भेदी ने कहा कि कर्मचारी अपने हितों के प्रति पूरी तरह से जागरूक है। राजकीय नर्सेज संघ की जिलाध्यक्ष सुधा द्विवेदी और जिला मंत्री हेमंती ने कहा कि महिला कर्मचारियों के शोषण के विरुद्ध महिला आयोग में भी शिकायत दर्ज कराई जाएगी। शोषण करने वाले अधिकारियों को जिले से बाहर का रास्ता दिखाया जाएगा। उत्तराखंड लैब ट्रेक्नीशियन एसोसिएशन के प्रांतीय उपाध्यक्ष पंकज वर्मा और राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य संविदा कर्मचारी संघ के जिला मंत्री आशीष काला ने कहा कि कर्मचारी अधिकारी के गुलाम नहीं है। राजकीय आप्ट्रोमेटिस्ट एसोसिएशन के जोगेंद्र यादव एवं डिप्लोमा फिजियोथेरेपी संघ की नेता आभा बिष्ट ने बताया कि कर्मचारी पूरे मनोयोग से जनता की सेवा में लगे रहते हैं। पर कुछ स्वार्थी अधिकारी कर्मचारियों को बेवजह परेशान कर राजकीय कार्यो में बाधा उत्पन्न करते हैं। प्रदर्शन करने वालों में उषा श्रीवास्तव, रेणू धीमान, अंजुम आरा, अनुमाला, तपन शर्मा, मानोज नवानी, कुंती सिसोदिया, नितिन शर्मा, प्रीती डंगवाल, आशीष जोशी, सुभम भट्ट, मिनाक्षी, प्रदीप आर्या आदि मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Health workers performed with black bars