DA Image
22 अक्तूबर, 2020|11:59|IST

अगली स्टोरी

15 लाख के पाइप चोरी करने वाले गैंग पकड़ा

15 लाख के पाइप चोरी करने वाले गैंग पकड़ा

कनखल और सप्तऋषि क्षेत्र से 15 लाख के पाइप चोरी करने वाले गैंग का पुलिस ने पर्दाफाश करते हुए दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि गैंग के तीन आरोपी अभी फरार हैं। आरोपी ट्रांसपोर्ट की मदद से पाइपों को अपने ठिकाने तक पहुंचाते थे। आरोपियों के पास से पुलिस ने 136 पाइप बरामद किए हैं।

एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय ने बताया कि 12 दिसंबर की रात को कनखल थाना क्षेत्र के बैरागी कैंप क्षेत्र में अमृत योजना के तहत डाले जाने वाले 218 लोहे के पाइप चोरी हो गए थे। पुलिस ने यशपाल चौहान पुत्र माया सिंह निवासी तपोवन रोड दीप कॉलोनी देहरादून की शिकायत पर अज्ञात में मुकदमा दर्ज किया था। पुलिस आरोपियों तक पहुंची भी नहीं थी कि 16 दिसंबर रात को नगर कोतवाली क्षेत्र के सप्तऋषि से 47 पाइप चोर हो गए। लाखों के पाइप चोरी होने के बाद एसएसपी सेंथिल अबुदई कृष्णराज एस ने मामले में जांच टीम गठित की और पुलिस ने जांच करते हुए सीसीटीवी फुटेज खंगालने शुरू कर दिए। रविवार को पुलिस के मुखबिर ने सूचना दी कि अलकनंदा गेस्ट हाउस के पास निर्माणाधीन बिल्डिंग के पास काफी संख्या में लोहे के पाइप पड़े हुए हैं। सूचना मिलते ही पहुंची पुलिस ने वहां के लोगों से पूछताछ की। मौके पर पुलिस को दो युवक कमल किशोर पुत्र सत्य प्रकाश निवासी भसोली नगला जगदेव, अलीगढ़ और इनातुल्ला पुत्र रहमतुल्ला निवासी ईलामचीपुर, गाजियाबाद मिले। दोनों युवकों से सख्ती से पूछताछ की तो उन्होंने बताया कि पाइप उन्होंने कनखल और सप्तऋषि क्षेत्र से चोरी किए थे। आरोपियों के पास से 136 पाइप बरामद हो गए। बताया कि अन्य पाइपों को उन्होंने गाजियाबाद और दिल्ली में बेच दिया है। आरोपियों ने बताया कि दिल्ली में उन्होंने आहद और जैन को पाइप बेचे हैं, जबकि गाजियाबाद में दिनेश को चोरी के पाइप बेचे हैं। पुलिस ने चोरी के पाइप खरीदने वाले तीनों लोगों को मुकदमे में आरोपी बनाया है। बताया जा रहा है कि दिनेश का हाथ पाइप को चोरी करने में भी था। एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय ने बताया कि फरार आरोपियों की तलाश की जा रही है।