DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बारिश के बाद खुशी से खिले किसानों के चेहरे

अच्छी बारिश होने से किसानों के चेहरे खिल गए हैं। खाली पड़े खेतो में बारिश के बाद किसानों ने धान की बुआई शुरू कर दी है। बारिश न होने से धान की बुआई रुकी हुई थी।पथरी क्षेत्र अंतर्गत गांव धनपुरा, पदार्था, फेरुपुर, कटारपुर, रानीमाजरा, चांदपुर, शाहपुर, बादशाहपुर अम्बूवाला, घिस्सुपुरा आदि गांव में लगातर हुई बारिश से किसानों को काफी राहत मिली है। बरसात की कमी के चलते किसानों को धान की फसल की बुआई में खासी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था। किसान इरशाद अली, साजिद हसन, गालिब हसन, शाहबाज अली, मनोज कुमार, दीपक चौहान ने बताया धान की बुआई का समय निकलता जा रहा था। बरसात न होने के चलते किसान खेतों को तैयार नहीं कर पा रहे थे। समय के अनुसार फसल नहीं लगाने पर किसानों को फसल के नुकसान होने की संभावना बनी हुई थी। अब तीन दिन की बारिश से काफी राहत मिली है। कृषि विशेषज्ञ राजा राम साहब सिंह ने बताया धान की फसल के लिए खेतों में अधिक पानी और तरावट की आवश्यकता होती है। तीन से चार दिन में धान की फसलों की बुआई की जा सकती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Farmers' faces, happily after the rain