अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विरोध के बीच कनखल में हटाया अतिक्रमण

विरोध के बीच कनखल में हटाया अतिक्रमण

1 / 4कनखल क्षेत्र में बुधवार को अतिक्रमण हटाने गई टीम को लोगों के विरोध का सामना करना पड़ा। शंकराचार्य चौक के पास अतिक्रमण हटाने को लेकर एक दुकानदार और अधिकारियों के बीच जमकर नोकझोंक...

विरोध के बीच कनखल में हटाया अतिक्रमण

2 / 4कनखल क्षेत्र में बुधवार को अतिक्रमण हटाने गई टीम को लोगों के विरोध का सामना करना पड़ा। शंकराचार्य चौक के पास अतिक्रमण हटाने को लेकर एक दुकानदार और अधिकारियों के बीच जमकर नोकझोंक...

विरोध के बीच कनखल में हटाया अतिक्रमण

3 / 4कनखल क्षेत्र में बुधवार को अतिक्रमण हटाने गई टीम को लोगों के विरोध का सामना करना पड़ा। शंकराचार्य चौक के पास अतिक्रमण हटाने को लेकर एक दुकानदार और अधिकारियों के बीच जमकर नोकझोंक...

विरोध के बीच कनखल में हटाया अतिक्रमण

4 / 4कनखल क्षेत्र में बुधवार को अतिक्रमण हटाने गई टीम को लोगों के विरोध का सामना करना पड़ा। शंकराचार्य चौक के पास अतिक्रमण हटाने को लेकर एक दुकानदार और अधिकारियों के बीच जमकर नोकझोंक...

PreviousNext

कनखल क्षेत्र में बुधवार को अतिक्रमण हटाने गई टीम को लोगों के विरोध का सामना करना पड़ा। शंकराचार्य चौक के पास अतिक्रमण हटाने को लेकर एक दुकानदार और अधिकारियों के बीच जमकर नोकझोंक हुई। एक स्थान पर विवाद इतना बढ़ गया कि एक अधिकारी को थप्पड़ मारना पड़ गया। बंगाली मोड़, चौक बाजार और पहाड़ी बाजार में अतिक्रमण हटाने के दौरान व्यापारियों की अधिकारियों के साथ लंबी बहस हुई, पर इसके बावजूद अतिक्रमण को हटा दिया गया। वहीं, भारी फोर्स के बीच जितना भी अतिक्रमण हटाया गया उनकी कीमत भी निगम ने वसूलने की तैयारी कर ली है। निगम की मानें तो अधिकांश अतिक्रमण महानिर्वाणी अखाड़े का आंका गया है। एमएनए ललित नारायण मिश्र का कहना है कि संबंधित अखाड़े का ही कई स्थानों पर अतिक्रमण देखा गया है। इसलिए अतिक्रमण हटाने की एवज में उनसे एक लाख जुर्मना वसूला जाएगा। महानिर्वाणी अखाड़े को जुर्माने की राशि जमा कराने के लिए सप्ताह भर का समय दिया जाएगा। बुधवार को हाईकार्ट के आदेश पर प्रशासन और नगर निगम की संयुक्त टीम ने कनखल क्षेत्र से अतिक्रमण हटाया। मुख्य नगर आयुक्त ललित नारायण मिश्रा और सिटी मजिस्ट्रेट मनीष सिंह ने स्वयं अभियान का मोर्चा संभालते हुए दुकानों, घरों और आश्रमों के बाहर से अतिक्रमण हटाया। शंकाराचार्य चौक पर अस्थायी दुकानों के साथ घरों और दुकानों के आगे से रैंप और सीढ़ियां भी हटाई गईं। कई लोगों ने संयुक्त टीम पर एक समान कार्रवाई न करने का आरोप लगाते हुए विरोध किया। इस पर मुख्य नगर आयुक्त ललित नारायण मिश्रा ने कहा कि अतिक्रमण को पहले ही चिह्नित किया गया था। चिन्हीकरण के आधार पर ही अब कार्रवाई की जा रही है। संन्यास रोड पर बंगाली मोड़ के पास कई जगह अतिक्रमण को चिह्नित करने के लिए लगाए गए निशान मिटा दिए गए थे। इसके बाद टीम ने दोबारा से पैमाइश के बाद अतिक्रमण हटाया। पहाड़ी क्षेत्र में दुकानों के आगे बने स्लैब और रैंप हटाने को लेकर संयुक्त टीम और दुकानदारों में तीखी नोकझोंक हुई। दुकानदार रैंप को वैध ठहराने लगे। वहीं टीम ने स्लैब और रैंप को अवैध बताया। विरोध के बावजूद टीम ने अतिक्रमण हटा दिया। चौक बाजार में कार्रवाई की भनक लगते ही दुकानदारों ने दुकान के बाहर से अतिक्रमण हटाना शुरू कर दिया। कई दुकानदारों ने अतिक्रमण हटाने के लिए मजदूर भी लगाए। पहाड़ी बाजार में नालियों के ऊपर से स्लैब, टीन शेड, सीढ़िया और रैंप हटाए गए। अतिक्रमण हटाने के दौरान पुलिस ने सड़क पर पूरी तरह से यातायात बंद कर दिया। कार्रवाई के दौरान सीओ कनखल स्वप्न किशोर, तहसीलदार सुनैना राणा, थानाध्यक्ष कनखल ओमकांत भूषण, एसएनए संजय कुमार, कर एवं राजस्व अधीक्षक रमेश रावत, राहुल कैंथोला, सुनीता सक्सेना, सहायक अभियंता निर्माण विभाग दिनेश उनियाल, कनिष्ठ अभियंता शशि खंडूड़ी, वेदपाल सिंह, राजेंद्र घाघट, दिनेश कांडपाल, विकास छाछर, सुनीत कुमार आदि मौजूद रहे।गाली गलौच करने पर सिटी ने जड़ा थप्पड़शंकराचार्य चौक के पास एक चाय स्टॉल संचालक कोर्ट का स्टे का हवाला देते हुए संयुक्त टीम से भिड़ गया। जब चाय स्टॉल संचालक अधिकारियों के साथ गाली गलौच करने लगा तो मौके पर मौजूद सिटी मजिस्ट्रेट स्टॉल संचालक को थप्पड़ जड़ दिया। जब सिटी मजिस्ट्रेट पुलिस को कार्रवाई के निर्देश दिए तो स्टॉल संचालक माफी मांगने लगा।विहिप ने किया मंदिर हटाने का विरोधबंगाली मोड़ के पास जब संयुक्त टीम सड़क किनारे बने मंदिर को हटाने लगी तो विश्व हिन्दू परिषद् का एक नेता नवीन तेश्वर मंदिर हटाने का विरोध करने लगा। नवीन ने सभी धर्मों के पूजा स्थलों पर समान रूप से कार्रवाई करने की मांग की। इसके बाद अधिकारियों ने अतिक्रमण की स्थिति स्पष्ट होने के कार्रवाई करने की बात कही।बंगाली मोड़ के पास मिला अजगरसंयुक्त टीम संन्यास मार्ग पर दुकानों के बाहर से अतिक्रमण हटा रही थी। अचानक एक दुकान के कांउटर में 10 फीट लंबा अजगर निकल आया। इसके बाद वन विभाग सूचित किया गया। सिटी मजिस्ट्रेट ने अजगर पकड़ने में वन विभाग की टीम ने मदद की।पुराने कुएं से नहीं हटा अतिक्रमणझंडा चौक के पास पुराने कुएं पर कभी चाट की अस्थायी दुकानें लगा करती थीं, पर अब कुएं के ऊपर पक्के निर्माण कर दुकानें बना दी गई है। अतिक्रमण हटाने के दौरान कुएं पर बनी दुकानों को अभयदान मिल गया। नगर निगम ने वसूला 20 हजार जुर्मानाकनखल में अतिक्रमण हटाने के दौरान नगर निगम की टीम ने गंदगी, प्लास्टिक, पॉलीथिन पर कार्रवाई कर 20 हजार रुपए जुर्माना वसूला। एक व्यक्ति को सिटी मजिस्ट्रेट मनीष सिंह ने सड़क पर थूकते पकड़ा। निगम ने कार्रवाई कर जुर्माना वसूल किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Encroachment removed in protest at Kankhal