DA Image
22 अक्तूबर, 2020|5:57|IST

अगली स्टोरी

रखवाली कर रहे किसानों को हाथियों ने दौड़ाया

default image

पथरी क्षेत्र के गांव रानीमाजरा में बुधवार रात हाथियों के एक झुंड ने जमकर उत्पात मचाया। फसलों की रखवाली कर रहे किसानों ने हाथियों को भगाने की कोशिश की तो हाथियों ने किसानों को ही दौड़ा दिया। वन विभाग की ओर से बनाई गई तारबाड़ को भी हाथियों ने कई जगह से तोड़ डाला।

गांव बिशनपुर कुण्डी, रानीमाजरा में हाथियों के झुण्ड कई दिनों से लगातार आ रहे हैं। बुधवार रात हाथियों का एक झुंड बिशनपुर के नजदीक खेतों में आ धमका और राजपाल, मदनलाल, कर्णपाल के धान के खेत में घुस गया। मदनलाल खेत में धान की फसल की रखवाली कर रहा था। हाथियों को अपने खेत में घुसता देख उसने आसपास के खेतों में रखवाली कर रहे रामलाल, दीपक, संतोष, हीरालाल आदि को आवाज देकर बुला लिया। हाथियों पर टॉर्च की रोशन कर भगाने का प्रयास किया। उसके बाद हाथी रानीमाजरा स्थित एक खेत में घुस गये और धान की फसलों को बर्बाद करने लगे। किसान राजबीर, सुनील, सोमनाथ ने उन्हें खेतों से बाहर निकालने की कोशिश की। मगर हाथी टस से मस नहीं हुए। इसके बाद किसानों ने तेज आवाज वाले पटाखे फोड़े। जिस पर हाथी किसानों की ओर भागने लगे। किसानों ने भाग कर अपनी जान बचाई। किसानों ने मामले की जानकारी वनप्रभाग को दी। सूचना पर वनकर्मी मौके पर पहुंचे और कुछ किसान ट्रैक्टर लेकर आ गये। किसानों ने ट्रैक्टरों के साइलेंसर उतार कर तेज आवाज में ट्रैक्टर दौड़ाए तब जाकर हाथी गंगा की ओर भागे। उप वन क्षेत्र अधिकारी गजेंद्र सिंह ने बताया हाथियों को रोकने का पूरा प्रयास किया जा रहा है। धान खाने के प्रयास में हाथी खेतों में आ रहे हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Elephants run to the farmers guarding