DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हरिद्वार में उक्रांद का दो दिवसीय अधिवेशन संपन्न

हरिद्वार में उक्रांद का दो दिवसीय अधिवेशन संपन्न

1 / 2स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर शहर की कई सामाजिक संस्थाओं ने जिला कारागार रोशनाबाद पहुंचकर वहां बंद कैदियों को फल वितरित किए। और उन्हें स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं...

हरिद्वार में उक्रांद का दो दिवसीय अधिवेशन संपन्न

2 / 2स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर शहर की कई सामाजिक संस्थाओं ने जिला कारागार रोशनाबाद पहुंचकर वहां बंद कैदियों को फल वितरित किए। और उन्हें स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं...

PreviousNext

हरिद्वार में उक्रांद का दो दिवसीय अधिवेशन संपन्न

गैरसैंण को स्थायी राजधानी बनाने और शराब पर पूर्ण प्रतिबंध की मांग

हरिद्वार। मुख्य संवाददाता

उत्तराखंड क्रांति दल के अधिवेशन के समापन पर सर्वसम्मति से फील्ड मार्शल दिवाकर भट्ट को केंद्रीय अध्यक्ष चुना गया। अधिवेशन में उक्रांद नेताओं ने कहा कि गैरसैंण को स्थायी राजधानी घोषित करने के साथ ही संगठन की मजबूती के लिए सदस्यता अभियान चलाने का निर्णय लिया। अधिवेशन में राज्य में शराब पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने की भी मांग की गई।

नवनियुक्त अध्यक्ष दिवाकर भट्ट ने कहा कि प्रदेश की राजनीति में उक्रांद को मुख्य विकल्प के रूप में स्थापित किया जायेगा। प्रदेश सरकार की नाकामियों के खिलाफ जल्द ही आंदोलन की रूपरेखा तय की जायेगी। ऊर्जा प्रदेश में बिजली व पानी निशुल्क किये जाने की मांग को लेकर आंदोलन चलाया जायेगा। भट्ट ने कहा कि अगर सरकार रोजगार उपलब्ध नहीं करा सकती तो बेरोजगारों के लिए भत्ता शुरु करे। निजी खेती में चुगान की अनुमति सरकार को देनी चाहिए। पूर्व विधायक काशी सिंह ऐरी ने कहा कि उक्रांद ही राज्य की मूल अवधारणा के अनुरूप राज्य का विकास कर सकता है। उक्रांद ही आंदोलनकारियों के अनुरूप राज्य का विकास कर सकता है।

पूर्व अध्यक्ष त्रिवेंद्र सिंह पंवार ने कहा कि हर मोर्चे पर विफल राज्य की भाजपा सरकार केवल अपनी नाकामी को छिपाने में लगी हुई है। जल, जंगल जमीन उजाड़े जा रहे है। पर्वतीय क्षेत्रों में विकास के काम ठप पड़े हुए है। पूरे प्रदेश में माफियाराज हावी हो रखा है। पूर्व अध्यक्ष नारायण सिंह जंतवाल ने कहा कि प्रदेश में केवल अफसरशाही व माफिया ही हावी है। देवभूमि की मान मर्यादा को ताक पर रखकर पहाड़ पर शराब फैक्ट्री खोलने की अनुमति दी गई है। रोजगार न मिलने से युवा पहाड़ों से दूसरे राज्यों में पलायन कर रहा है। पहाड़ों में स्वास्थ्य व शिक्षण सेवाएं पूरी तरह से प्रभावित हो रखी है। जिलाध्यक्ष राकेश राजपूत ने कहा ककि यूकेडी ही प्रदेश में जनता की आवाज बन सकता है। युवा वर्ग को संगठन से जोड़ने के लिए अभियान चलाया जाना चाहिए।

अधिवेशन के समापन सत्र में डीके पाल, प्रदीप उपाध्याय, सरिता पुरोहित, रविंद्र वशिष्ठ, रेखा, शंकर उपाध्याय, कन्हेया लाल, शुभम, संजय चौहान, राजीव देशवाल, डीडी जोशी, जयंत अमोली, दीपक गोनियाल, सुशील उनियाल, ब्रजवीर सिंह, किशन रावत आदि शामिल थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Distributed fruits to prisoners