DA Image
24 अक्तूबर, 2020|2:20|IST

अगली स्टोरी

लॉकडाउन के बाद बिजली के बिल से उपभोक्ताओं को लगा झटका

default image

शहर और देहात के लोग इन दिनों भारी भरकम आ रहे बिजली के बिलों से परेशान हैं। लॉकडाउन के बाद से बिजली के बिल देख उपभोक्ताओं को झटका लगा है। लोगों का आरोप है कि बिलों में गड़बड़ होने से इतने ज्यादा पैसे लगाकर भेजे जा रहे। इसको लेकर लोग अधिकारियों के दफ्तरों के चक्कर काट रहे हैं।

22 मार्च से लॉकडाउन लग गया था। इसके बाद अप्रैल माह में लोगों ने बिना मीटर रीडिंग के फोन पर आने वाले संदेश के आधार पर ऑनलाइन भुगतान किया। इसके बाद मई में कुछ क्षेत्रों में ऊर्जा निगम ने रीडिंग लेने का काम शुरू कर दिया। जून माह में आए बिल को देख उपभोक्ता परेशान हो गए। ज्वालापुर निवासी मंजूर, नदीम अहमद ने बताया कि लॉकडाउन के बाद जून माह में बिजली के बिल ने टेंशन में डाल दिया है। पिछले दो माह तक औसत बिल भरने के बाद इस माह आए रीडिंग के बिल हर महीने आने वाले बिल की तुलना में इस बार दो-तीन गुना अधिक मिला है। 12 का हजार का बिल का कहां से जमा करेंगे। नफीस मंसूरी ने बताया महामारी के कारण एक तरफ रोजगार और आमदनी पर काफी प्रभाव पड़ा है। दूसरी तरफ अचानक दो से तीन गुना बिल आने से कई परिवारों के लिए राशि जमा कराना चुनौती बन गया है। इस बार आए सात से आठ बाजार के बिल ने परेशानी बढ़ा दी। भूपतवाला निवासी अंकुर ठाकुर ने बताया कि दो माह औसत बिल दो हजार रुपये के आसपास आता था। लेकिन इस बार करीब 5200 रुपये का आया है। ज्वालापुर निवासी शाकिर मलिक ने बताया कि बिजली बिल गलत तरीके से भेजे जा रहे। भारी भरकम बिल जमा करने में परेशानी आ रही है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Consumers were shocked by the electricity bill after the lockdown