Complaint about closure of school children s bank accounts - स्कूली बच्चों के बैंक खाते बंद करने की शिकायत DA Image
12 दिसंबर, 2019|4:43|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्कूली बच्चों के बैंक खाते बंद करने की शिकायत

आर्य इंटर कॉलेज बोंगला में ब्लाक बहादराबाद के समस्त शिक्षकों की गत वर्ष एवं वर्तमान समय में हुए कार्यो की समीक्षा बैठक आयोजित की गई। बैठक में शिक्षकों ने सबसे पहले बैंक द्वारा बंद किए जा रहे छात्र छात्राओं के बैंक खातों की शिकायत की। शिक्षकों ने कहा कि छात्र छात्राओं के बैंकों खातों को बैंक बंद करता जा रहा है। शिक्षकों का कहना है कि बच्चों के माता पिता भी बच्चों के बैंक खाता खुलवाने के लिए गंभीर नहीं है। बैठक में एमडीएम, विद्यालयों में एक्टिविटी पुस्तकों, शिक्षा की गुणवत्ता, अलग से बालिका शौचालय निर्माण सहित 29 बिंदुओं पर समीक्षा बैठक की गई। जिला परियोजना अधिकारी ब्रह्मपाल सिंह सैनी ने शिक्षकों से कहा कि बरसात में टपक रही स्कूल की छतों के नीचे बच्चों को न बिठाए। जीर्णशीर्ण हालात में पड़े भवनों में भी बच्चों को न बैठाया जाए। उनकी सूची बनाकर शिक्षा अधिकारी कार्यालय को उपलब्ध कराएं। उन्होंने कहा कि औरंगाबाद, अलीपुर, इब्राहिमपुर, गेंड़ीखाता, सलेमपुर सहित कई स्कूलों के प्रधानाध्यापकों ने बैंकों द्वारा खाते बंद किए जाने की शिकायत की है। खंड शिक्षा अधिकारी अजय चौधरी ने कहा कि बच्चों को गतिविधि पुस्तिका के जरिए अंग्रेजी, विज्ञान सहित सभी कार्यों को लगन से कराएं। दिव्यांग बच्चों के खातों को उनके माता-पिता के सहयोग से बैंक जाकर खुलवाएं। जिससे कि घर बैठे दिव्यांग बच्चों की पुस्तकों, यूनिफॉर्म आदि की धनराशि उनके बैंक खातों में भेजी जा सके। ब्लॉक के सभी शिक्षकों को आदेशित किया कि वह तत्काल बच्चों के माता-पिता के सहयोग से उनके बैंक खाते सुचारू कराएं। बैठक में जिला समन्वयक सर्व शिक्षा अभियान डीएस भंडारी, दीपक पवार जिला समन्वयक एमडीएम, प्रधानाचार्य विजेंद्र कुमार, राम कुमार चौहान, विकास कांबोज, साधना शर्मा आदि शिक्षक शिक्षिका मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Complaint about closure of school children s bank accounts